पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीन घंटे तक धरना चला:पानी की समस्या के समाधान के लिए छाजूसर के ग्रामीण एसडीएम ऑफिस के बाहर धरने पर बैठे

सरदारशहरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीएचडी के खिलाफ प्रदर्शन करते छाजूसर के ग्रामीण व अन्य। - Dainik Bhaskar
पीएचडी के खिलाफ प्रदर्शन करते छाजूसर के ग्रामीण व अन्य।
  • वार्ता में समाधान का आश्वासन मिलने पर हटाया

छाजूसर गांव में लंबे समय से पेयजल समस्या काे लेकर शुक्रवार काे ग्रामीण आक्राेशित हाे गए। ग्रामीणाें ने भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेंद्रसिंह के नेतृत्व में एसडीएम ऑफिस में जलदाय विभाग के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया और धरने पर बैठ गए। ग्रामीणाें ने बताया कि गांव में करीब छह माह से पानी की समस्या है। पानी की नियमित सप्लाई नहीं हाे रही है।

कई दिनाें में एक बार पानी आता है, वाे भी काफी कम प्रेशर से। गांव के लाेगाें काे मजबूरन टैंकर मंगवाने पड़ते हैं। कई बार जलदाय अधिकारियाें काे अवगत कराया गया, लेकिन सुनवाई नहीं हाे रही। ग्रामीणाें ने कहा कि अगर समाधान नहीं हुआ ताे बड़ा आंदाेलन किया जाएगा। धरने पर बैठे किसानाें से वार्ता करने लिए एसडीएम रीना छींपा पहुंची। माैके पर जलदाय विभाग के एक्सईएन गाेविंद प्रसाद जांगिड़ काे माैके पर बुलाया।

इसके बाद ग्रामीणाें व अधिकारियाें के बीच वार्ता शुरू हुई। वार्ता में एक्सईएन जांगिड़ ने ग्रामीणाें काे आश्वासन दिया कि जल्द ही पानी से जुड़ी सभी समस्याअाें का समाधान करा दिया जाएगा। आश्वासन के बाद ग्रामीणाें ने धरना खत्म किया। सरपंच भरतराज सारण, धर्मेंद्र सिंह, गोपालसिंह राजपूत, सुरेंद्रसिंह राजपूत, जीतूनाथ, धर्माराम, राजेंद्र चंदेल, चेतराम, लालचंद, विनोद, धर्मेंद्र, गुलाराम नाई आदि ग्रामीण माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...