लापरवाही / नसबंदी के बाद महिला की मौत, शिविर लगाने वाली एनजीओ टीम गायब

Woman dies after sterilization, NGO team camping
X
Woman dies after sterilization, NGO team camping

  • सरदारशहर अस्पताल में एनजीओ के माध्यम से नसबंदी कैंप का आयोजन, शाम 4 बजे तबीयत बिगड़ने पर चूरू रैफर किया था, चूरू डीबी अस्पताल में महिला की मौत
  • एनजीओ ने लालचवश ऑपरेशन के लिए ज्यादा महिलाओं का चयन किया, कई महिलाओं की तबीयत बिगड़ी, परिजनों ने हंगामा किया

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

सरदारशहर. सरदारशहर के राजकीय अस्पताल में मंगलवार को नसबंदी ऑपरेशन के बाद एक महिला की तबीयत बिगड़ गई। देर शाम चूरू के डीबी अस्पताल में पहुंचने पर मौत हो गई। महिला मैनादेवी पत्नी दीपराम नायक (25) निवासी रोलासर की मौत नसबंदी ऑपरेशन के बाद रक्तस्राव से होना माना जा रहा है। 

सीएमएचओ डॉ. भंवरलाल सर्वा का कहना है कि महिला की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मामले में लापरवाही पर कार्रवाई की जाएगी। अस्पताल प्रभारी से रिपोर्ट मांगी जाएगी। इधर, नसबंदी के बाद महिला की मौत के बाद चिकित्सा विभाग में हडकंप मच गया। दरअसल, सरदारशहर के राजकीय अस्पताल में नसबंदी का काम चिकित्सा विभाग ने बीदासर के एक एनजीओ को दे रखा है। नसबंदी के लिए चिकित्सा विभाग द्वारा बीदासर के एनजीओ शुभम पैरामेडिकल समिति की टीम द्वारा ऑपरेशन किए गए। शिविर को लेकर करीब 200 महिलाओं को बुलाया गया। सुबह 6 बजे ही महिलाएं आने शुरू हो गई। 11 बजे तक 200 से ज्यादा महिलाएं अस्पताल पहुंच गई। टीम द्वारा 80 महिलाओं का ऑपरेशन के लिए चयन किया गया। करीब 40 महिलाओं के बाद रोलासर निवासी मैनादेवी का ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के बाद महिला मैनादेवी को रक्तस्राव होना लगा, जिससे उसकी तबीयत बिगड़ने लगी। 

उसे स्थानीय चिकित्सक को बुलाकर गंभीर हालत में चूरू रैफर कर दिया। चूरू में शाम पहुंचने ड्यूटी डॉ. उत्तम ने अन्य डॉक्टरों को बुला लिया। उस समय मैनादेवी की सांसें उखड़ रही थी। उसे सीपीआर दी गई, इस बीच उसने दम तोड़ दिया। इधर, शाम 4 बजे जब मामला बिगड़ा तो एनजीओ टीम अस्पताल से गायब हो गई। अस्पताल प्रभारी डॉ. राजेश गुप्ता ने बताया कि सभी व्यवस्था एनजीओ द्वारा की जाती है। मामले की जानकारी सीएमएचओ को दी गई है। 

इनके इंजेक्शन लगाए लेकिन ऑपरेशन किए ही नहीं
कुछ महिलाओं को इंजेक्शन लगा दिए, बाद में ऑपरेशन नहीं किए। इनमें नानू पत्नी रमेश मेघवाल निवासी मनाफरसर, प्रियंका पत्नी सरवन सिंह राजपूत निवासी मनाफरसर, सुमन पत्नी किशन लाल प्रजापत निवासी मनाफरसर, लिछमा पत्नी मदनलाल निवासी सावर, सुमिती पत्नी रामनिवास वार्ड नंबर 14, मंजू पत्नी किशोर सिंह राजपूत निवासी पूनूसर,जमीला पत्नी सतार खान निवासी पूनूसर,सुमन पत्नी कृष्ण नायक निवासी सावर,सरोज पत्नी अमरजीत बावरी निवासी सावर सहित अनेक महिलाएं शामिल हैं।

एनजीओ की भूमिका की जांच करवाकर दोषियों पर कार्रवाई करेंगे : सीएमएचओ
महिला की मौत मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आवश्यक कार्रवाई करेंगे। मामले में एनजीओ की भूमिका भी जांच करवाई जाएगी, जो भी दोषी होगा, कार्रवाई करेंगे। प्रथमदृष्ट्या महिला की मौत नसबंदी ऑपरेशन के बाद रक्तस्राव होने से हुई लगती है। -डॉ. भंवरलाल सर्वा, सीएमएचओ

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना