बैठक:चेयरमैन के आदेश के बाद भी ईओ ने बुलाई बोर्ड मीटिंग भाजपा पार्षद नहीं आए, कांग्रेस ने पास किए पांच एजेंडे

श्रीमाधोपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नेता प्रतिपक्ष नंदकिशोर सैनी की अध्यक्षता व विधायक दीपेंद्र सिंह शेखावत की उपस्थिति में बैठक, कांग्रेस पार्षद मौजूद

नगर पालिका में भाजपा का बोर्ड होते हुए भी पहली विशेष बैठक में चेयरमैन व भाजपा पार्षदों की अनुपस्थिति रही। पालिका बोर्ड के गठन के दो महीने बाद सोमवार को हुई बैठक में कांग्रेस ने सर्वसम्मति से पांच एजेंडों को पारित करा लिया। बैठक में पालिकाध्यक्ष हरिनारायण महंत, उपाध्यक्ष औंकारसिंह राठौड़ व भाजपा पार्षदों की अनुपस्थिति रही। बैठक प्रतिपक्ष नेता व कांग्रेस पार्षद नन्दकिशोर सैनी की अध्यक्षता व विधायक दीपेन्द्र सिंह शेखावत की उपस्थिति में हुई। इसमें कांग्रेस व कांग्रेस समर्थित सभी पार्षद पहुंचे। मौजूद पार्षदों ने प्रस्ताव सदन में रखे और कांग्रेस विधायक दीपेन्द्र सिंह शेखावत के मत सहित उन सभी प्रस्तावों को सर्वसम्मति से पास भी कर दिया। बगैर चेयरमैन के बोर्ड बैठक होने पर उठे सवाल के बाद ईओ रजन जैन ने बताया कि बोर्ड अध्यक्ष हरिनारायण महंत ने ही सात अप्रैल को सहमति दी थी। चेयरमैन महंत का कहना है कि ईओ ने बैठक के लिए पालिका उपाध्यक्ष को जो पत्र भेजा, उसमें बैठक की तारीख व समय नहीं था। पत्र पर डिस्पेच नंबर भी नहीं थे। इसे लेकर उन्होंने कलेक्टर और स्वायत शासन विभाग को शिकायत की है।

ईओ रजत जैन ने बताया कि सात अप्रैल को पालिकाध्यक्ष की अनुमति से बोर्ड की विशेष बैठक बुलाई गई थी, लेकिन अध्यक्ष ने रविवार शाम को मेल कर बैठक निरस्त करने की बात कही व सोमवार को बैठक में पालिकाध्यक्ष, उपाध्यक्ष व भाजपा के पार्षद नहीं आए। बैठक के लिए कोरम का एक तिहाई होना जरूरी रहता है। इसमें 17 कांग्रेस व कांग्रेस समर्थित पार्षद एवं विधायक सहित 18 सदस्यों को बहुमत मानते हुए बैठक हुई। इसमें सभी पार्षदों के सामने एजेंडे रखे जो सर्वसम्मति से पास किए गए। गौरतलब है कि श्रीमाधोपुर नगरपालिका के कुल 35 वार्डो में कांग्रेस के 13 और भाजपा के 12 पार्षद हैं। वहीं 10 निर्दलीय पार्षद हैं। बैठक में कांग्रेस के 13 पार्षदों के अलावा उनके समर्थित चार पार्षद तथा विधायक मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...