पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धर्म समाज:श्रद्धालुओं ने दी सूर्यदेव के नाम की आहुतियां

झुंझुनूं18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सूर्य सप्तमी महोत्सव पर आज निकाली जाएगी भगवान सूर्यदेव की रथ यात्रा

प्रदेश के दूसरे बड़े तीर्थ लोहार्गल में गुरुवार को सूर्य पीठ पर हवन किया गया जिसमें पीठाधीश्वर अवधेशाचार्य महाराज के सानिध्य में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने भगवान सूर्यदेव के नाम की आहुतियां दी। शुक्रवार को सूर्य सप्तमी पर धार्मिक कार्यक्रम होंगे। जानकारी के अनुसार सूर्य क्षेत्र के प्रमुख तीर्थ स्थल लोहार्गल स्थित सूर्य पीठ पर गुरूवार को हवन किया गया। पंडित सुरेंद्र शर्मा, पंडित चेतन शर्मा व मुकेश शर्मा ने विधि-विधान के साथ जन कल्याण के लिए भगवान सूर्यदेव के सहस्त्र नामों की आहुतियां दिलवाई।

इस मौके पर वेंकटेश पीठाधीश्वर व महामंडलेश्वर अश्विनीदास महाराज, जानकीप्रसाद इंदौरिया, जगदीशचंद्र चौकड़ीवाला, अमित खांडल, दिनेश शर्मा कोलिड़ा, पिपराली सरपंच संतोष मूंड, सुरेश शर्मा, प्रदीप अग्रवाल जयपुर, दिनेश गुप्ता सीकर, जितेंद्रसिंह, निरंजन शर्मा उदयपुरवाटी, मुकेश शर्मा, पंडित जुगलकिशोर आदि ने जन कल्याण के लिए हवन में आहुतियां दी।

आयोजक व पीठाधीश्वर अवधेशाचार्य महाराज के मुताबिक शुक्रवार को सुबह भगवान सूर्यदेव का अभिषेक होगा, 10.15 बजे भगवान सूर्यदेव की रथ यात्रा निकाली जाएगी। 12.15 बजे महा आरती व उसके बाद भजन संध्या होगी जिसमें स्थानीय व बाहरी कलाकार भजनों की प्रस्तुतियां देंगे। शाम तक भंडारा व प्रसादी का कार्यक्रम रहेगा।

भागवत कथा से पहले निकाली कलश यात्रा : बुहाना | भिर्र पंचायत के भोपालपुरा गांव में भागवत कथा शुरू हुई। इससे पहले महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली। सात दिन तक चलने वाली भागवत कथा में दोपहर एक बजे से शाम पांच बजे तक कथा वाचक बृजवासी रामानंद शास्त्री करेंगे। कलश यात्रा के दौरान संतुरामराज, श्याम सुंदर, रोहिताश्व कुमार, निवासी कुमार, विनोद कुमार आदि मौजूद थे।

महाभारत की कथा व सुखदेव संवाद की कथा का वर्णन : बाघोली/चंवरा | जमवाय माता मंदिर प्रांगण चंवरा में चल रहे शिखर कलश एवं राम दरबार स्थापना के लिए श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के दूसरे दिन महाभारत की कथा व सुखदेव संवाद की कथा का वर्णन किया गया। वृंदावन के आचार्य अरविंद महाराज ने महाभारत की कथा में बताया कि भगवान की भक्ति करने से सत्कर्म प्राप्त होते हैं। कथा समापन पर आरती के बाद चांद कंवर शेखावत ने प्रसाद वितरण किया।

कथा में श्रीकृष्ण व सुदामा के मित्रता की झांकी सजाई : ककराना स्थित हीरामल मंदिर में चल रही भागवत कथा में भगवान श्रीकृष्ण व सुदामा के मित्रता की कथा का वर्णन किया गया। कथा वाचक अयोध्या धाम के धर्म सेवा संस्थान के संस्थापक आचार्य धरणीधर महाराज ने कहा कि मनुष्य के संग में रहकर मनुष्य बनना सरल है।

उन्होंने कहा कि द्वारिकाधीश कृष्ण दौड़ते हुए सुदामा से मिलने आए और हृदय से लगाकर के उनके दुखों को एक क्षण में दूर कर दिया। कथा के दौरान कृष्ण व सुदामा मित्रता की झांकी भी सजाई गई। इसके बाद परीक्षित के मोक्ष की कथा का वर्णन किया। कथा समापन के बाद हवन व भंडारे का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान शेरसिंह खटाना, गुरुजी ख्याली गठीला, सीताराम खटाना, राजेश गठीला, भवानी गठीला मस्ताराम, महेंद्र चौहान आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें