पूर्व विधायक ने ली अलग-अलग बैठक:पूर्व विधायक शुभकरण ने ली पार्षदों व कार्यकर्ताओं की अलग-अलग बैठक

उदयपुरवाटी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी ने बुधवार को शहर में पार्षदों व कार्यकर्ताओं की अलग-अलग बैठकें लेकर नगरपालिका में चल रहे भ्रष्टाचार पर चर्चा की तथा अनियमितताओं और भ्रष्टाचार का खुलकर विरोध करने के निर्देश दिए। जांगिड़ कॉलोनी में एक पार्षद के आवास पर पूर्व विधायक चौधरी ने पार्षदों को बुलाकर नगरपालिका में भ्रष्टाचार पर चर्चा की।

पार्षदों ने बताया कि पालिका में नया बोर्ड बनने के बाद भ्रष्टाचार हो रहा है। नियमानुसार पारदर्शी निविदाएं कराने के बजाए अपने चहेते संवेदकों को बांटी जा रही हैं। निविदाओं में अब तक करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार हो रहा है। कुछ बाहर के संवेदक विरोध करते हैं तो अधिकारियों के दबाव में निविदाओं को बिना किसी खास कारण के निरस्त कर देते हैं और उसी निविदा को कुछ दिन बाद मौका देखकर वापस करवा लेते हैं। विधायक चौधरी ने पार्षदों को कहा कि 18 अक्टूबर को निविदा के दौरान पार्टी के सभी पार्षद नगरपालिका में मौजूद रहेंगे तथा पारदर्शी तरीके से निविदा करवाएंगे। अगर उसके बावजूद भी भ्रष्टाचार होता है तो खुलकर विरोध करेंगे और जरुरत पड़ी तो धरने-प्रदर्शन भी करेंगे।

बैठक में पार्षद सीताराम जांगिड़, उमेश कुमावत, राजेंद्र ढेनवाल, तेजस छीपा, दिनेश सैनी, मनीष जांगिड़, आदि मौजूद थे। चुंगी नंबर तीन के निकट पूर्व विधायक चौधरी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से पालिका के भ्रष्टाचार पर चर्चा की। चौधरी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि कांग्रेस पार्टी का बोर्ड बनने के बाद शहर का विकास ठप हो गया। इस कार्यकाल में भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि 18 अक्टूबर को नगरपालिका में निविदा के दौरान कार्यकर्ता भी पूरी तरह से अलर्ट रहें तथा जरुरत पड़ने पर पार्टी पार्षदों की मदद करें। इस मौके पर इंद्रपुरा पूर्व सरपंच मनोहरलाल सैनी, महावीरप्रसाद ईशरोद, नितेश सैनी, सचिन सेन, झाबरमल सैनी, अंकित पारिक, मंगलचंद खारड़िया, रामसिंह सैनी आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...