चिकित्सा विभाग की टीम ने सिरोही अस्पताल में देखी व्यवस्थाएं:प्रभारी बोले- हॉस्पिटल में अच्छा काम, राज्य स्तर पर जीत सकता है अवॉर्ड

सिरोही19 दिन पहले
चिकित्सा विभाग की टीम ने मिल्क बैंक, लेबर रूम, ऑपरेशन थिएटर, ट्रॉमा वार्ड और ब्लड बैंक को देखा।

राष्ट्रीय कायाकल्प कार्यक्रम के तहत चिकित्सा विभाग की 4 सदस्यीय टीम सिरोही अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंची। टीम ने 2 दिन के दौरे में जिला अस्पताल का के सभी विभागों और वार्डों का बारीकी से निरीक्षण किया। टीम ने मिल्क बैंक, लेबर रूम, ऑपरेशन थिएटर, ट्रॉमा वार्ड और ब्लड बैंक को देखा। टीम के सदस्यों ने अस्पताल में सुविधाओं के साथ ही अन्य जानकारियों को लेकर कर्मचारियों से कुछ सवाल जवाब भी किए। टीम को निरीक्षण के दौरान अस्पताल परिसर में सभी जगह साफ-सफाई मिली। इसके साथ ही वार्डों में डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ के साथ ही अन्य कर्मचारी उनके निर्धारित स्थान पर सेवाएं देते मिले।

चिकित्सा विभाग की टीम के प्रभारी डॉ. जगदीश मायच ने बताया कि उनकी टीम के निरीक्षण में सामने आया है कि अस्पताल में अच्छा काम किया जा रहा है। अस्पताल विकास की ओर बढ़ रहा है। यहां थोड़ी सी मेहनत की और जरूरत है। सभी मिलकर थोड़ी और मेहनत करें तो अस्पताल राज्य स्तर पर अवॉर्ड जीत सकता है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में स्टाफ की कमी है, लेकिन फिर भी यहां व्यवस्थाएं और मेंटेनेंस काफी अच्छा कर रखा है।

अस्पताल में नर्सिंग ऑफिसर समेत अन्य स्टाफ की कमी
सिरोही अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ, लैब टेक्नीशियन सहित अन्य स्टाफ की काफी कमी है। अस्पताल में नर्सिंग ऑफिसर के 185 पद हैं, लेकिन सिर्फ 75 नर्सिंग ऑफिसर मौजूद हैं। इसी तरह लैब टेक्नीशियन के 24 पदों में से सिर्फ 7 पद भरे हैं। इसके अलावा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के 50 पदों में से सिर्फ 6 पदों पर नियुक्ति है। स्वीपर के 20 पदों हैं, लेकिन वर्तमान में अस्पताल में सिर्फ 3 स्वीपर है। इनमें से 2 के छुट्टी पर होने के कारण सिर्फ 1 कर्मचारी सफाई की व्यवस्था संभाल रहा है। मॉर्च्युरी में 1 कर्मचारी पोस्टमार्टम करवाने का काम कर रहा है।