इंदिरा रसोई का दायरा बढ़ा:शहरों में सस्ते खाने तक पहुंच अब और भी हुई आसान, 14 नई इंदिरा रसोई खुली

सिरोही14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहरों में सस्ते खाने तक अब आमजन की पहुंच और भी आसान हो जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार ने इंदिरा रसोई का दायरा बढ़ा दिया है। जिले के छह शहरों में पहले सिर्फ 8 इंदिरा रसोई ही चल रही थी, जिसमें सबसे ज्यादा 3 रसोई जिला मुख्यालय सिरोही पर संचालित थी। इसके अलावा आबूरोड, शिवगंज, माउंट आबू, पिंडवाड़ा व जावाल में सिर्फ एक-एक इंदिरा रसोई चल रही थी।

इन छह शहरों में रविवार को 14 नई इंदिरा रसोई शुरू हुई। इसमें सबसे ज्यादा 6 नई रसोई सिरोही शहर में खुली। इसके अलावा आबूरोड, माउंट आबू व शिवगंज में 2-2 इंदिरा रसोई शुरू हुई। इसी तरह पिंडवाड़ा व जावल में 1-1 इंदिरा रसोई खोली गई।

शहरी क्षेत्रों में अब कुल 22 इंदिरा रसोई हो गई है, जहां सिर्फ 8 रुपए में भोजन मिलेगा। नगरपरिषद सिरोही में नई इंदिरा रसोई का शुभारंभ कॉलेज में कलेक्टर डॉ. भंवरलाल एवं सभापति महेंद्र मेवाड़ा के आतिथ्य में किया गया। प्रदेशस्तरीय शुभारंभ वीसी के जरिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किया।

सुबह 9 से 2, शाम 5 से रात 9 बजे तक 8 रुपए में भोजन
इंदिरा रसोई में खाने का समय सवेरे 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक लंच दिया जाएगा एवं रात्रि कालिन भोजन शाम 5 बजे से रात 9 बजे तक उपलब्ध करवाया जाएगा। भोजन करने के लिए कूपन सिस्टम किया गया, जिसमें व्यक्ति का वेबकैमरे से फोटो खिंचने के बाद रसोई की साइट पर नाम व मोबाइल नंबर व आयु अंकित किए जाने के बाद ही कूपन कटेगा। नगरपरिषद आयुक्त अनिल कुमार झिंगोनिया ने बताया कि 8 रुपए में भोजन दिया जाएगा। भोजन में 100 ग्राम दाल,100 ग्राम सब्जी एवं 250 ग्राम चपाती एवं अचार दिया जाएगा।

जानिए, कौनसे शहर में कहां मिलेगी नई इंदिरा रसोई सुविधा
सिरोही: पुराना बस स्टैंड के सामने आश्रय स्थल, अमरनगर स्थित सामुदायिक भवन, जिला उद्योग केंद्र के सामने सामुदायिक भवन, राजकीय पीजी कॉलेज, विवेकानंद स्कूल के सामने सामुदायिक भवन, रीको औद्योगिक क्षेत्र।

माउंट आबू: पुराना कांजी हाउस पुलिस थाने के पीछे और देलवाड़ा पार्किंग। आबूरोड: पुराना चुंगी नाका पुरानी नगरपालिका के पास और चेकपोस्ट पुराना आरटीओ ऑफिस। शिवगंज: खाडिय़ावास स्थित सामुदायिक भवन और इंद्रा कॉलोनी स्थित सामुदायिक भवन। पिडवाड़ा: उदयपुर रोड स्थित सामुदायिक भवन। जावाल: अंबेडकर सर्किल के पास।

खबरें और भी हैं...