ATM लूटने वाली गैंग का पर्दाफाश, 3 गिरफ्तार:वारदात में शामिल कार और ट्रोला बरामद, 4 आरोपियों की तलाश जारी

सिरोही5 महीने पहले
सिरोही के अनादरा थाना क्षेत्र के पावापुरी स्थित ATM को उखाड़कर ले जाने के मामले में पुलिस ने पर्दाफाश करते हुए 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया।

सिरोही के अनादरा थाना क्षेत्र के पावापुरी स्थित ATM को उखाड़कर ले जाने के मामले में पुलिस ने पर्दाफाश करते हुए 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया। इस वारदात में काम में ली गई कार और ट्रोला भी पुलिस ने बरामद कर लिया। वारदात में प्रयुक्त कार आगरा के ताजगंज क्षेत्र से चोरी की हुई है। मामले में 4 और आरोपियों की तलाश जारी है।

अनादरा थानाधिकारी गीता सिंह ने बताया कि गत 11 जून देर रात करीब 3 बजे पावापुरी मुख्य गेट के पास स्थित ATM लूटने से पहले चोर ट्रोला भी साथ में लेकर आए थे। उसे उन्होंने ATM के सामने खड़ा किया ताकि किसी को अंदर की वारदात का पता नहीं चले। ATM तोड़ने के बाद ट्रोला हटाया तथा इको कार में 6 लाख 23 हजार से भरा ATM डालकर ले गए। इस मामले में पुलिस ने कार को पालड़ी एम स्कूल के सामने से बरामद किया।

इस लूट के खुलासे के लिए SP धर्मेंद्र सिंह की तरफ से टीम गठित की गई थी। टीम प्रभारी थानाधिकारी गीतासिंह को इस मामले में कुछ महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे तो टीम को साथ लेकर अलवर पहुंच गई, वहां पता चला कि यह टीम किसी दूसरी वारदात को अंजाम देने के लिए झारखंड के जमशेदपुर की ओर गई है। इसके बाद पूरी टीम करीब 1400 किलोमीटर का सफर रात-दिन लगातार तय कर जमशेदपुर झारखंड की तरफ पहुंची, लेकिन वहां पुलिस की भनक लगने पर सरगना नासिर मौके से फरार हो गया, जबकि पुलिस ने रामगढ़ अलवर निवासी जमशेद (32) पुत्र दाऊद खां को गिरफ्तार किया। इसके बाद रामगढ़ अलवर निवासी असलम उर्फ चिल्लू (32) पुत्र इदू खां और सलेमपुर दौसा निवासी संजय जोगी (21) पुत्र महेश जोगी को गिरफ्तार किया।

वारदात में काम ली गई कार आगरा से चोरी की थी
आरोपियों के पास कार के कागजात मिले तो पता चला इको कार आगरा के ताजगंज थाना क्षेत्र से चुराई हुई थी। चोरी की कार के फर्जी कागजात तथा फर्जी सिम के आधार पर फास्टैग स्टीकर जारी करवा कार पर लगाया। पुलिस आरोपियों को पकड़कर थाने ले आई। इन तीनों आरोपियों से अलग-अलग पूछताछ कर रही है। इस मामले में जमशेद, नासिर, संजय, दिनेश बंजारा, चिल्लू, शरीफ और एमपी मीणा आरोपी हैं।