मकान निर्माण कार्य एक महीने में कराने के आदेश:पूरा नहीं कराने पर 1.07 लाख रुपए और हर्जाना राशि भी देनी होगी

सिरोही3 महीने पहले
जिला उपभोक्ता आयोग ने एक मामले में ठेकेदार को एक महीने में निर्माण कार्य पूरा नहीं करने पर जुर्माने समेत ज्यादा ली गई राशि लौटाने के आदेश दिए हैं।

जिला उपभोक्ता आयोग ने एक मामले में ठेकेदार को एक महीने में निर्माण कार्य पूरा कराने के आदेश दिए हैं। निर्माण नहीं कराने पर ठेकेदार द्वारा ज्यादा लिए गए 1 लाख 7 हजार रुपए, आर्थिक जुर्माने के 10 हजार और कोर्ट हजाने के 5 हजार रुपए लौटाने के आदेश दिए हैं।

अनिल सिंह व राजेंद्र सिंह को अजीत सिंह के अधूरे मकान का निर्माण 1 माह में पूरा करने का आदेश जारी करने के साथ की निर्माण कार्य समय में पूर्ण नहीं होने पर 107443 रुपए तथा अजीत सिंह को मानसिक शारीरिक व आर्थिक हर्जाने के रूप में रुपए 10000 व परिवाद व्यय के ₹5000 भी अदा करें,

जिला उपभोक्ता आयोग के सदस्य रोहित खत्री ने बताया कि अजीत सिंह ने उसके मकान निर्माण कार्य का ठेका अनिल सिंह और राजेंद्र सिंह को दिया था। माल मैटेरियल और मजदूरी समेत 19 लाख 50 हजार में मकान निर्माण 1 वर्ष की अवधि में तय किया था, लेकिन अनिल सिंह ने तय राशि 19 लाख 50 हजार से 1 लाख 7434 रुपए ज्यादा लेने के बाद भी निर्माण कार्य अधूरा छोड़ दिया था। इस पर अजीत सिंह ने परेशान होकर पुलिस अधीक्षक को शिकायत दी, पुलिस जांच में इस बात की पुष्टि की गई तथा जांच में पाया गया कि मकान निर्माण कार्य क्षेत्र में लिया था जो कि समय अवधि में पूरा नहीं किया गया।

इस पर थानाधिकारी ने एक महीने में कार्य पूर्ण करने का समय दिया था। इसके बावजूद अनिल सिंह ने मकान निर्माण कार्य पूर्ण नहीं किया। इस पर विवश होकर अजीत सिंह ने जिला उपभोक्ता आयोग में परिवाद पेश किया था। जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग के अध्यक्ष मलारखान मंगलिया सदस्य रोहित खत्री व उज्जवल सांखला ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद फैसला सुनाते हुए कहाकि ठेकेदार अनिल सिंह एक माह में अजीत सिंह के अधूरे मकान का निर्माण कार्य को पूरा करे अन्यथा तय राशि से अधिक ली गई राशि 1लाख 7434 अदा करने के साथ मानसिक शारीरिक व आर्थिक हर्जाना के 10 हजार और परिवाद व्यय के 5 हजार रुपए भी अदा करे।