पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भुगतान:दुर्घटना में हुई थी मृत्यु, बैंक ने नोमिनी भाई को 1 लाख का एटीएम बीमा दिया

भादरा6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • भादरा क्षेत्र के गांव मलसीसर की पीएनबी शाखा के खाताधारक थे कृष्ण कुमार, बैंक प्रबंधन ने परिजनों को खुद दी जानकारी

बैंक में अकाउंट खुलने के बाद जैसे ही एटीएम आपको मिलता है। बीमा पॉलिसी लागू हो जाती है। इससे एटीएम धारक की मौत होने के बाद परिवार को मदद मिल सके। ऐसा ही भादरा क्षेत्र के गांव मलसीसर स्थित पंजाब नेशनल बैंक के खाताधारक कृष्ण कुमार के साथ हुआ।

पीएनबी शाखा मलसीसर में खाताधारक के नोमिनी घोटड़ा खालसा निवासी अशोक कुमार ने बताया कि उन्हें शाखा के प्रबंधक अनिल कुमार जाजड़ा ने फोन पर बताया कि उनके भाई कृष्ण का हमारी शाखा में बचत खाता था। उनकी मृत्यु दुर्घटना में हो चुकी है। वे पीएनबी के एटीएम कार्ड से लेन-देन करते थे। बैंक के नियमानुसार एटीएम कार्ड जारी होने के बाद आपके भाई का दो लाख रुपए का बीमा क्लेम बैंक द्वारा दिया जाना है।

इस बारे में मृतक कृष्ण के परिवार को इसकी जानकारी नहीं थी। बैंक प्रबंधन ने अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए कृष्ण कुमार की मृत्यु की सूचना मिलने के बाद ही दुर्घटना बीमा क्लेम शुक्रवार को शाखा प्रबंधक अनिल कुमार जाजड़ा ने खाताधारक कृष्ण कुमार के नोमिनी उनके भाई अशोक चौधरी के बैंक खाता में एक लाख रुपए की बीमा क्लेम की राशि ट्रांसफर की।

यह राशि दुर्घटना बीमा क्लेम में उन्हें नामिनी के तौर पर मिलना थी। बैंक के सभी एटीएम कार्ड धारकों का एक लाख रुपए राशि का दुर्घटना बीमा होता है और दुर्घटना में मृत्यु होने पर नॉमिनी को वह राशि दी जाती है। कृष्ण कुमार निवासी घोटड़ा खालसा के प्रकरण में भी यही हुआ।

भास्कर नॉलेज: दस लाख तक का होता है बीमा, नियम: 90 दिन के भीतर लेन-देन होना जरूरी
पंजाब नेशनल बैंक के शाखा प्रबंधक अनिल कुमार जाजड़ा ने बताया कि यदि किसी भी सरकारी या गैर सरकारी बैंक का एटीएम आपके पास है तो आपका उस बैंक में अपने आप ही दुर्घटना बीमा हो जाता है। यह बीमा एक लाख रुपए से लेकर दस लाख रुपए तक का होता है।

इस योजना को शुरू हुए कई साल हो गए हैं लेकिन अधिकांश लोगों को इस बात की जानकारी ही नहीं है। क्योंकि बैंक कभी खुद ये जानकारी ग्राहकों को नहीं देते। अगर आपके पास किसी एक बैंक में एक ही अकाउंट हो या फिर उस बैंक की दूसरी ब्रांच में भी अकाउंट हो तो भी मुआवजा आपको किसी एक एटीएम पर ही मिलेगा। जिससे पैसे का लेन-देन किया जा रहा हो। मुआवजा देने के पहले बैंक ये देखेंगे कि मौत से पहले पिछले 90 दिन के भीतर उस एटीएम से किसी तरह का वित्तीय लेन-देन हुआ था या नहीं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें