पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्थापना दिवस:कृषि और श्रम कानून में संशोधन करने पर सीटू ने केंद्र सरकार के खिलाफ जताया रोष

हनुमानगढ़24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय ट्रेड यूनियन केंद्र सीटू का 51वां स्थापना दिवस रविवार को जंक्शन व टाउन में मनाया गया। जंक्शन स्थित शहीद भगत सिंह यादगार केंद्र लाल चौक कोषाध्यक्ष व मक्कासर गांव के सरपंच कामरेड बलदेव सिंह ने मक्कासर ने झंडारोहण किया। इस मौके पर हुए सेमीनार में कामरेड शेर सिंह शाक्य ने कहा कि देश भयंकर महामारी के दौर से गुजर रहा है। महामारी को रोकने में केंद्र सरकार विफल रही है।

सरपंच बलदेव सिंह ने मजदूर आंदोलनों पर प्रकाश डालते हुए संगठन की शक्ति के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की किसान मजदूर विरोधी नीतियों के विरोध में देशभर में किसान और मजदूर आंदोलन कर रहे हैं। श्रम कानूनों को सुधार के नाम पर बदल कर गुलाम बनाने की साजिश रची जा रही है। इससे श्रमिकों को में रोष है। इस मौके पर कामरेड अमीर खान, अमित कुमार, मुकद्दर अली, वारिस अली, मंटू मंडल, गुरनाम सिंह, जसपाल सिंह, रिछपाल सिंह, फिरोज खान, वली शेर आदि मौजूद रहे।

टाउन स्थित जनशक्ति भवन में सीटू का स्थापना दिवस मनाया गया। जिलाध्यक्ष कामरेड आत्मा सिंह, सीटू के जिला संरक्षक मलकीत सिंह, सीटू जिला उपसचिव बहादुर सिंह चौहान, हरजी वर्मा, बसंत सिंह, अरविंद मुंशी, मेजर सिंह ने सीटू के इतिहास पर प्रकाश डाला। वक्ताओं ने मजदूर और किसान विरोधी कानून रद्द करने का मुद्दा उठाया। निजीकरण बंद करने और प्रति व्यक्ति 10 किलो अनाज देने की मांग की। इस मौके पर कामरेड जगदीश यादव, श्योपत राम, अनिल मोहन मिश्रा, जितेंद्र दास, हरिराम पेंटर, राकेश बजाज, संदीप, जगतार सिंह, लालमोहन, सुदेश शर्मा, संतोष शाह आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...