पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अच्छी खबर:कॉलेज शिक्षा विभाग का ‘ज्ञान परख’ कार्यक्रम 15 से सहायक आचार्य परीक्षा की निशुल्क तैयारी करवाएंगे

हनुमानगढ़16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मॉक टेस्ट के जरिए प्रतिभागी खुद अपनी तैयारी का स्तर जांच सकेंगे, 30 सितंबर तक चलेगा

सहायक आचार्य कॉलेज भर्ती परीक्षा की तैयारी कर रहे परीक्षार्थियों के लिए अच्छी खबर है। आयुक्तालय काॅलेज शिक्षा विभाग की ओर से युवाओं के लिए “ज्ञान परख” कार्यक्रम चलाया गया है। इसके तहत 15 से 30 सितंबर तक एक माॅक टेस्ट सीरीज चलाई जाएगी।

जिसमें प्रतियोगिता परीक्षा के पैटर्न पर आधारित विषयवार ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करवाई जाएगी, जिससे प्रतियोगी स्वयं परीक्षा से पहले मूल्यांकन कर सकेंगे और अपनी तैयारी का स्तर जांच सकेंगे। साथ ही मुख्य परीक्षा में अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकेंगे।

यह सभी के लिए पूरी तरह से निशुल्क है। टाउन राजकीय कॉलेज के प्रतियोगिता दक्षता प्रभारी शिशुपाल ने बताया कि परीक्षार्थी को गूगल फार्म के माध्यम से आयुक्तालय काॅलेज शिक्षा की वेबसाइट पर दिए लिंक http://the.rajasthan.gov.in/dept/dce के माध्यम से रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

प्रथम चरण में हिंदी, राजनीति विज्ञान सहित 8 विषयों के टेस्ट होंगे

प्रथम चरण में 8 विषयों के माॅक टेस्ट 15 से 29 सितंबर तक आयोजित किए जाएंगे। इन विषयों में सामान्य ज्ञान, हिंदी, राजनीति विज्ञान, इतिहास, भूगोल, रसायनशास्त्र, वनस्पति शास्त्र एवं अर्थशास्त्र के प्रश्न पत्र होंगे। इन विषयों के प्रथम एवं द्वितीय प्रश्न पत्रों में प्रश्नों की संख्या 100-100 होगी। परीक्षा की समय अवधि 1.30 घंटे की रहेगी। इसके लिए माॅक टेस्ट प्रश्न पत्र का लिंक विभाग द्वारा जारी कर दिया गया है। जो निर्धारित तिथि को 12 बजे सक्रिय कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि गांधीजी के विचारों एवं मूल्यों के प्रसार के लिए सर्वोदय विचार परीक्षा का आयोजन भी नवंबर माह में प्रस्तावित है।

15 से शुरू होंगे मॉक टेस्ट, विद्यार्थियों के लिए फायदेमंद- प्राचार्य

पहला मॉक टेस्ट 15 सितंबर को सामान्य ज्ञान परीक्षा होगी और इसके बाद लगातार ही 30 सितंबर तक मॉक टेस्ट करवाए जाएंगे। प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को मार्गदर्शन, प्रोत्साहन, विषयपरक ज्ञान संवर्धन, साक्षात्कार की तैयारी आदि के लिए भी ऑनलाइन लाइव सेशन भी किए जा रहे हैं। इसी क्रम में ज्ञान परख का आयोजन किया जा रहा है ताकि परीक्षार्थी स्वयं का मूल्यांकन कर सके। परीक्षा प्रश्नोत्तर की शीट को सब्मिट करते ही परीक्षार्थी को अपना स्कोर स्वयं पता चल सकेगा। -डॉ. एनएस भाम्भू, प्राचार्य, टाउन राजकीय नेहरु मेमोरियल कॉलेज।

खबरें और भी हैं...