ऑफिस मर्ज से पहले भुगतान करवाने की मांग:सहारा इंडिया में निवेशकों के करोड़ों रुपए बकाया, अब निवेशकों में कंपनी का कार्यालय मर्ज होने की सता रही चिंता, लोगों ने कलेक्टर व एसपी को सौंपा ज्ञापन

हनुमानगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ऑफिस मर्जर की आशंका के चलते निवेश की हुई राशि दिलवाने की मांग करने पहुंचे लोग। - Dainik Bhaskar
ऑफिस मर्जर की आशंका के चलते निवेश की हुई राशि दिलवाने की मांग करने पहुंचे लोग।

सहारा इंडिया में जिले में बड़े स्तर पर निवेश हुआ था। पल्लू व रावतसर जैसे ग्रामीण क्षेत्र में भी हजारों लोगों ने अपने खून-पसीने की कमाई निवेश कर रखी है। अब इस क्षेत्र के लोगों को आशंका है कि कंपनी के लोकल एफसी कार्यालय को जिला मुख्यालय के सेक्टर ऑफिस में मर्ज करने की तैयारी की जा रही है। ऐसे में रावतसर व पल्लू क्षेत्र के निवेशकों ने निवेश की गई राशि का भुगतान दिलवाने की मांग को लेकर गुरुवार को जिला कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा।

प्रतिनिधिमंडल में शामिल पूर्व जिला परिषद सदस्य गौरीशंकर थोरी ने बताया कि सहारा इंडिया कंपनी की रावतसर पल्लू शाखाओं में कंपनी की ओर से संचालित विभिन्न योजनाओं में निवेश किया गया था। इनमें पांच से छह हजार लोग शामिल हैं। माकपा नेता रघुवीर वर्मा ने बताया कि पल्लू क्षेत्र का 25 करोड़ व रावतसर क्षेत्र के लोगों का 40 करोड़ रुपए का भुगतान बकाया है। जिसे पिछले कई वर्षों से कम्पनी की ओर से दिया नहीं जा रहा।

आमजन अपने खून पसीने की कमाई का भुगतान नहीं मिलने से परेशान है। उन्होंने बताया कि सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि कम्पनी की ओर से रावतसर व पल्लू के एफसी कार्यालय को हनुमानगढ़ स्थित सेक्टर ऑफिस में मर्ज कर दिया गया है। कम्पनी के इस फैसले से दोनों क्षेत्रों के लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। कार्यालय मर्ज होने से निवेशकर्ताओं को परिपक्वता राशि प्राप्त करने के लिए रावतसर व पल्लू से हनुमानगढ़ के चक्कर लगाने पड़ेंगे।

कम्पनी में सबसे ज्यादा निवेश उन लोगों ने किया गया है, जो निहायत ही गरीब तबके के लोग है। लोगों की ओर से कंपनी के रावतसर-पल्लू कार्यालय को मर्ज करने से पहले क्षेत्र के निवेशकों का भुगतान करवाने की मांग की गई है। ज्ञापन देने वाले प्रतिनिधिमंडल में राकेश कुमार, दीपक कुमार, लालचंद, हरचंद, आदराम वर्मा, सागर आदि शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...