पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अलविदा जुमा की नमाज आज:13 या 14 मई को चांद के हिसाब से मनाई जाएगी ईद

हनुमानगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रमजान का तीसरा अशरा शुरु हो चुका है। यह आखिरी अशरा है। इसमें ही 7 मई शुक्रवार को अलविदा जुमा की नमाज होगी। इसके बाद 13 या 14 मई को चांद दिखने के हिसाब से ईद मनाई जाएगी। नई खुंजा मस्जिद के इमाम मौलाना गुलाम फरीद कादरी ने बताया कि रमजान के महीने को 10-10 रोजों के तीन हिस्सों में बांटा गया है।

इसमें पहला रहमत, दूसरा मगफिरत और आखिरी अशरा जहन्नुम से आजादी का है। यह बेशुमार बरकतों वाला है। इस महीने में रोजेदारों के सारे गुनाह माफ हो जाते हैं। तीसरा अशरा 20वें रोजे के मगरिब से शुरु हो गया। मंगलवार को तीसरे अशरे का पहला रोजा था। यह अशरा ईद का चांद दिखाई देने तक जारी रहेगा। इसी के साथ एतफाक का सिलसिला शुरू हो गया।

तीसरे अशरे में 20वें रोजे के मगरिब से शुरु होकर चांद रात तक एकांत में रहकर अल्लाह की इबादत करने को एतफाक कहा जाता है। तीसरे अशरे की रातों में शब-ए-कद्र भी आएगी। उन्होंने बताया कि वैसे तो मस्जिदों में बैठकर भी एतफाक का जिक्र है, लेकिन इस समय कोरोना संक्रमण अधिक है। इसलिए मोमिनों को घरों में ही सोशल डिस्टेंस के साथ इबादत करने का आग्रह किया है।

खबरें और भी हैं...