रोष प्रदर्शन:धान की सरकारी खरीद के लिए किसानों का आमरण अनशन शुरू, केंद्र व राज्य सरकार के प्रति जताया रोष

हनुमानगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

धान की सरकारी खरीद शुरू करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट के समक्ष चल रहा संयुक्त किसान मोर्चा का पड़ाव जारी है। गुरुवार से मोर्चा के सात प्रतिनिधि आमरण अनशन पर बैठ गए। रेशम सिंह मानुका, शेर सिंह शाक्य, सौरभ राठौड़, गुरपरविंद्र सिंह मान, इकबाल सिंह, रायसिंह जाखड़ व महंगा सिंह ने आमरण अनशन शुरू किया है।

संयुक्त किसान मोर्चा के प्रतिनिधियों ने कहा कि किसान 4 अक्टूबर से पड़ाव पर बैठे हैं। बड़े स्तर पर प्रदर्शन कर चुके हैं। इसके बावजूद केंद्र और राज्य सरकार धान की सरकारी खरीद शुरू नहीं कर रही। यह दोनों सरकारों की हठधर्मिता है। किसान प्रतिनिधियों ने जंक्शन सीआई को निलंबित करने और वेयर हाउस निजी कंपनी को नहीं देने का भी मुद्दा उठाया। पड़ाव स्थल पर हुई सभा में वक्ताओं ने किसानों और मजदूरों से एकजुट होकर संघर्ष जारी रखने का आह्वान किया।

माकपा नेता रघुवीर सिंह वर्मा ने बताया कि 16 अक्टूबर से महिलाएं भी आमरण अनशन पर बैठेंगी। सभा में रामेश्वर वर्मा, इंद्रजीत पन्नीवाला, तरसेम सिंह मान, विजेंद्र चाहर, भोला सिंह, बलराम सहारण, फूला सिंह, वेद मक्कासर, सिकंदर सिद्धू, चरणजीत सिंह, हरनेक सिंह, रजनदीप सिंह, जगमीत सिंह, उदयपाल सिंह, ओम स्वामी, मनीराम मेघवाल आदि ने विचार व्यक्त किए।

खबरें और भी हैं...