भाजपा SC मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष के काफिले पर हमला:पीलीबंगा-गोलूवाला के बीच गाड़ियों पर मारे गए डंडे, ट्वीट किया- झगड़ा कर गालियां दीं, कार्यकर्ताओं को चोटें आई हैं

हनुमानगढ़3 महीने पहले
कैलाश मेघवाल के काफिले पर हमले के बाद पुलिस ने उन्हें कार्यकर्ताओं के साथ सुरक्षित निकाला।

भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष कैलाश मेघवाल के काफिले पर एक बार फिर हमला हुआ है। इसकी जानकारी उन्होंने ट्वीट कर दी है। मेघवाल ने ट्वीट किया है कि पीलीबंगा-गोलूवाला के बीच उनके काफिले पर हमला किया गया। गालियां दी गईं। गाड़ियों को रोक कर डंडे मारे गए। कुछ कार्यकर्ताओं को चोटें भी आई हैं। पुलिस ने बमुश्किल उनको व कार्यकर्ताओं को सुरक्षित निकाला। उन्होंने कहा है कि हमारे ऊपर हमला क्यों कर रहे हो, हम आपके ही भाई हैं। वे श्रीगंगानगर में होने वाली एक सभा में भाग लेने जा रहे थे। शनिवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे की घटना है।

पुलिस को मिली थी सूचना

पीलीबंगा थाना अधिकारी इंद्र कुमार ने बताया कि कैलाश मेघवाल के काफिले को पीलीबंगा-गोलूवाला रोड पर रोकने की सूचना मिली थी। पुलिस ने कैलाश मेघवाल के काफिले को सुरक्षित रवाना कराया। पुलिस यह भी दावा कर रही है कि किसी भी कार्यकर्ता को चोट नहीं आई है।

भाजपा नेता कैलाश मेघवाल की ओर से सोशल मीडिया पर डाली गई पोस्ट।
भाजपा नेता कैलाश मेघवाल की ओर से सोशल मीडिया पर डाली गई पोस्ट।

माहौल खराब कर रहे हैं कुछ लोग

भाजपा के पीलीबंगा देहात मंडल अध्यक्ष सुशील गोदारा ने बताया कि काफिले को रोका गया था। इस तरह की घटनाओं से आपसी सौहार्द्र खराब हो रहा है। श्रीगंगानगर में सर्व समाज की ओर से शनिवार को सभा रखी गई थी। सभा में कैलाश मेघवाल पर गत 30 जुलाई को हमला करने वाले लोगों की गिरफ्तारी की मांग की जानी थी। इससे पहले ही दोबारा कैलाश मेघवाल के साथ दुर्व्यवहार की घटना हो गई। गोदारा ने बताया कि कैलाश मेघवाल श्रीगंगानगर के रास्ते में हैं। कई जगह उनके स्वागत का कार्यक्रम भी है।

30 जुलाई को श्रीगंगानगर में कैलाश मेघवाल के साथ हुई मारपीट के बाद की फोटो।
30 जुलाई को श्रीगंगानगर में कैलाश मेघवाल के साथ हुई मारपीट के बाद की फोटो।

30 जुलाई को भी हुई थी घटना

30 जुलाई को श्रीगंगानगर में भाजपा व किसानों की ओर से अलग-अलग सभाएं की गई थीं। इस दौरान कैलाश मेघवाल किसानों के सभास्थल के पास पहुंच गए थे। यहां उनके साथ मारपीट कर और कपड़े फाड़ दिए गए थे। यह मामला तूल पकड़ गया था। मारपीट करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग भाजपा ने की थी।

खबरें और भी हैं...