बेटियां सिरमौर:सीनियर महिला क्रिकेट नेशनल में हमारी 4 बेटियां चयनित राजस्थान चैलेंजर ट्रॉफी के लिए जयपुर में दिखाएंगी दमखम

हनुमानगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राज्य स्तरीय महिला क्रिकेट प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर हुआ चयन, जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में 15 तक चलेगी

हनुमानगढ़ की बेटियां अब क्रिकेट में भी अपना परचम लहरा रही है। दरअसल, सीनियर महिला की राष्ट्रीय प्रतियोगिता में हमारे जिले की चार खिलाड़ियों आरज़ू बिश्नोई, राजवीर कौर, अंशु सैनी और मनस्वी कट्टा का चयन राजस्थान चैलेंजर प्रतियोगिता के लिए हुआ है।

अब यह चारों राजस्थान क्रिकेट टीम के चयन के लिए जयपुर में 13 से 15 अक्टूबर तक होने वाली राजस्थान चैलेंजर ट्रॉफी के लिए खेलेंगी। इस प्रतियोगिता के लिए 6 टीमें बनाई गई हैं। जिसमें खिलाड़ियों के प्रदर्शन के आधार पर राजस्थान की सीनियर महिला टीम का चयन किया जाएगा। यह प्रतियोगिता जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में बुधवार से शुरू हो चुकी है।

इस प्रतियोगिता के प्रदर्शन के आधार पर राजस्थान की मुख्य टीम में इनका चयन किया जाएगा। विदित रहे कि इन खिलाड़ियों का चयन पिछले सप्ताह आयोजित राज्य स्तरीय महिला क्रिकेट प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर किया गया था।

आरजू बिश्नोई: खेल में मेडल मिलने लगे तो परिवार वालों ने भी सपोर्ट किया

जब में गांव तंदूरवाली के स्कूल में थी तब खेलों को लेकर कुछ ख़ास रुझान नहीं था। मैंने सबसे पहले सॉफ्ट बॉल गेम से शुरुआत की थी। इसमें मुझे स्टेट और नेशनल में गोल्ड मैडल मिला था। इसके बाद मैंने कक्षा 11वीं में क्रिकेट शुरू किया था। पहले टेनिस बॉल से खेलती थी फिर लेदर की बॉल से खेलने लगी। मैडल मिलने लगे तो परिवार भी साथ हो गया।

राजवीर कौर: अभी तो खेलना शुरू किया है, मंजिलें हासिल करना ही मेरा लक्ष्य है

हनुमानगढ़ की टीम में मेरा चयन हुआ यह मेरे और परिवार के लिए बेहद गर्व के पल हैं। लोग सोचते हैं कि लड़कियां सिर्फ रचनात्मक कार्य ही कर सकती हैं। अगर दृढ़ निश्चय करो तो कोई भी काम मुश्किल नहीं। अभी तो सिर्फ खेलना शुरू किया है। मंजिलें बहुत हैं धीरे धीरे करके सभी हासिल करनी है। कोशिश यही रहेगी कि हनुमानगढ़ का नाम राष्ट्रीय स्तर पर गूंजे।

अंशु: सभी ने मुझ पर भरोसा किया, इसीलिए मैं आज इस मुकाम तक पहुंच सकी

हमारे सलेक्शन का जब पता चला तो सभी को बेहद खुशी हुई। एक बार तो यकीन ही नहीं हुआ कि हम अब राजस्थान ट्रॉफी के लिए खेलेंगे। हमारी मेहनत रंग लाई है। मैं इसका उपलब्धि का श्रेय माता पिता, सहयोगियों और कोच को देती हूं। सबने मुझ पर भरोसा किया इसीलिए मैं आज इस मुकाम तक पहुंची हूं। आगे के मैचों पर मेरा पूरा ध्यान रहेगा।

मनस्वी: बेटियां जल्दी सफल होती हैं, बस भरोसा करने की जरूरत है

हमारे क्षेत्र में लोगों की सोच बेटियों के प्रति बदल चुकी है। अब वे बेटियों को बेटों से कम नहीं आंकते। आप देखिए हर क्षेत्र में बेटियों ने अपना परचम लहराया है। चाहे शिक्षा हो या खेल हमने हमेशा सबसे बेस्ट प्रदर्शन किया। क्रिकेट में मेरा भविष्य है और मैं इसी खेल में हनुमानगढ़ का नाम पूरे देश में रोशन करने की कोशिश करती रहूंगी। यह मेरा सपना भी है।

हमारे जिले से 4 महिला खिलाड़ियों का चयन हुआ है। जिले के लिए यह बड़ी कामयाबी है। अब जिले की बेटियों काे भी क्रिकेट में अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा। इन खिलाड़ियों के चयन के बाद जिले के खेलप्रेमियों में खुशी का माहौल है। खास बात यह खिलाड़ी ग्रामीण परिवेश से हैं और संघर्ष से इस मुकाम काे हासिल किया है। ये खिलाड़ी आगामी मैचों में भी श्रेष्ठ प्रदर्शन करे यही कामना है। मनीष धारणिया, सचिव, जिला क्रिकेट संघ

खबरें और भी हैं...