​​​​​​​धरना प्रदर्शन:धान की सरकारी खरीद को लेकर थानों का घेराव, भाजपा नेता की गाड़ी रोकी, काले झंडे दिखाए, पुलिस ने दूसरे गेट से किया रवाना

हनुमानगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हनुमानगढ़ में भाजपा एससी मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष कैलाश मेघवाल को काले झंडे दिखाते किसान। - Dainik Bhaskar
हनुमानगढ़ में भाजपा एससी मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष कैलाश मेघवाल को काले झंडे दिखाते किसान।
  • जंक्शन थाना में प्रदर्शन के दौरान पुलिस पर लगाए आरोप, बोले- जब तक निलंबन नहीं, जारी रहेगा आंदोलन

धान की सरकारी खरीद जल्द शुरू करने की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने बुधवार को पुलिस थानों का घेराव कर रोष प्रदर्शन किया। जंक्शन थाना में किसान और मजदूर धरना लगाकर बैठ गए। प्रदर्शन के दौरान जब आंदोलनकारियों को पता चला कि सर्किट हाउस में भाजपा के कई नेता आए हुए हैं तो वह सर्किट हाउस के गेट पर पहुंच गए और इस बीच राष्ट्रीय एससी आयोग के अध्यक्ष और सदस्य के वाहन रवाना होने के बाद आंदोलनकारियों ने भाजपा एससी मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष कैलाश मेघवाल को काले झंडे दिखाए।

इस बीच मौके पर मौजूद कलेक्टर नथमल डिडेल और एसपी प्रीति जैन हरकत में आ गए। माहौल गर्माता देख पुलिस ने गाड़ी पीछे करवाई और बाद में एएसपी की गाड़ी में दूसरे गेट से कैलाश मेघवाल को रवाना किया गया। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष बलबीर बिश्नोई सहित अन्य नेता पहले ही दूसरे गेट से निकल गए थे।

इस मौके पर सभा को गुरपिंद्र सिंह मान, सौरभ राठौड़, रेशम सिंह, कामरेड सरपंच बलदेव सिंह, शेर सिंह शाक्य, आमिर खान, करणवीर सिंह, संदीप कंग, मनप्रीत सरां, कुलविंद्र ढिल्लो, अपरजोत बराड़, शिव कुमार, ओम स्वामी, गगनदीप सिंह, मक्खन सिंह, गोपाल विश्नोई, सतपाल सिंह, अजयपाल, अमन घुमान, सोनू रामगढ़िया, रुलदू सिंह, रायसाहब चाहर, प्रीत सिद्धू, सुखवंत सिंह, रमनदीप कौर आदि ने संबोधित किया।

उधर, जिला प्रशासन की ओर से गठित कमेटी ने खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के दौरान धान की खरीद को लेकर मिलिंग, परिवहन शुल्क और मंडी लेबर चार्जेज के संबंध में प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भिजवा दिया। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने धान की खरीद शुरू करने के मद्देनजर यह प्रस्ताव मांगा था।

वक्ता बोले- किसान व मजदूर विरोधी है सरकार, भास्कर की प्रति दिखा बोले- अवैध ब्रांचें चलवा रहे पुलिस और आबकारी विभाग

प्रदर्शन के दौरान वक्ताओं ने आरोप लगाए कि राज्य व केंद्र सरकार मिलकर किसानों के साथ धोखा कर रही है। ना तो किसानों पर लाठीचार्ज करने वाले सीआई को हटा रही है और ना ही धान की खरीद कर रही है। वक्ताओं ने कहा कि निजी कंपनी को वेयर हाउस के गोदाम दे दिए जिससे यह साबित होता है कि यह सरकारें मजदूर किसान और आम आदमी की नहीं है लेकिन अब मजदूर और किसान उठ चुका है।

जनता और किसान मजदूर विरोधी नीतियों का व्यापक पैमाने पर विरोध किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने भास्कर की प्रति दिखाते हुए आरोप लगाया कि पुलिस और आबकारी विभाग के अधिकारी शराब की अवैध ब्रांचें चलवा रहे हैं। इसी तरह पीलीबंगा, टिब्बी, हनुमानगढ़ टाउन, डबलीराठान पुलिस चौकी का घेराव किया गया।

वक्ताओं ने ऐलान किया कि जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय पर गुरुवार से 8 किसान-मजदूर आमरण अनशन शुरू करेंगें। इसके तहत 4 अक्टूबर से जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय पर किसानों का महापड़ाव जारी है। वक्ताओं ने कहा कि जब तक धान की सरकारी खरीद शुरू नहीं हो जाती और लाठीचार्ज करने वाले पुलिसकर्मियों को निलंबित नहीं किया जाता तब आंदोलन जारी रहेगा। सौरभ राठौड हनुमानगढ़,व सैकड़ों की संख्या में किसान मजदूर मौजूद थे

इधर...पीलीबंगा में सीआई गेरा को दंडित करने की मांग, काश्तकारों ने किया थाने के सामने प्रदर्शन

पीलीबंगा| संयुक्त किसान मोर्चा की हनुमानगढ़ जिला शाखा के आह्वान पर काश्तकारों द्वारा बुधवार को पीलीबंगा थाने के बाहर धरना लगाकर थाना प्रभारी का घेराव किया गया। इस दौरान काश्तकारों द्वारा विगत दिनों जिला मुख्यालय पर अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों पर बिना किसी कारण के लाठीचार्ज करने वाले जंक्शन थानाधिकारी नरेश गेरा को दंडित किए जाने की मांग की गई।

धरना स्थल पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए किसान नेता गोपाल बिश्नोई व अन्य वक्ताओं ने कहा कि जब तक पुलिस अधिकारी गेरा को दंडित नहीं किया जाता तब तक काश्तकारों का आंदोलन जारी रहेगा। और गुरुवार को जिलेभर के काश्तकारों द्वारा जिला कलेक्ट्रेट के समक्ष क्रमिक अनशन प्रारंभ किया जाएगा।

इस दौरान किसान नेता गुरजीवन सिंह रमाणा, मक्खन सिंह सिद्धू, शेराराम सहारण, परविंद्र सिंह, निखिल विश्नोई, डिप्टी बाजीगर, गुरलाल सिंह लाली, सुखबीर लोंगवाला, मेजर सिंह, रमनदीप मान, हरप्रीत वडिंग, भूपेंद्र रमाणा, रवि शेखावत, जलंधर सिंह, सुखपाल मान, जसकरण बराड़, अवतार सोहल, पुष्पेंद्र पूनिया, मनप्रीत रमाणा व श्रवण बराड़ सहित अनेक काश्तकार मौजूद थे। काश्तकारों ने दोपहर 12 से 2 बजे तक थाने का सामने प्रदर्शन किया।

खबरें और भी हैं...