पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नियंत्रण कक्ष भी स्थापित हुआ:नेशनल अचीवमेंट सर्वे की तैयारियां शुरू, प्राथमिक-माध्यमिक शिक्षा का स्तर पता चलेगा जिले भर से 300 फ़ील्ड इन्वेस्टीगेटर चयनित किए जाएंगे

हनुमानगढ़6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नेशनल अचीवमेंट सर्वे होने की जानकारी मिलने के बाद स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग तैयारियों में जुट गया है। मुख्यालय से प्राप्त दिशा-निर्देशों के आधार पर जिला शिक्षा विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। इसमें सभी बच्चों की परीक्षा ली जाएगी। जिसमें कक्षा 3, 5, 8वीं के विद्यार्थी शामिल हैं हैं। ख़ास बात यह है कि प्रधानाध्यापकों को भी आवश्यक पाठ्यक्रम सामग्री भेजी जा रही है।

सभी को तैयारी कराने कहा गया है। विद्यार्थियों की हिंदी, गणित, पर्यावरण, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान की दक्षता की जांच होगी। यह सर्वे पूरी तरह से एनसीआरटी गाइड लाइन व टूल्स के अनुसार होगा। विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा लर्निंग आउट्स कम और कौशल आधारित प्रश्नों का अभ्यास करवाया जा रहा है। इससे पहले 13 नवंबर 2017 को यह सर्वे हुआ था, इसके बाद अब 12 नवंबर 2021 में यह सर्वे प्रस्तावित किया गया है। हालांकि यह मूल्यांकन ऑनलाइन होगा या आफलाइन, यह अभी तय नहीं हुआ है।

बीएड सेकंड इयर के 300 विद्यार्थी बनेंगे फील्ड इन्वेस्टीगेटर

शिक्षा विभाग के अनुसार एनएएस राज्य की शैक्षिक गुणवत्ता का प्रमुख आधार है। जिले में कार्यरत अधिकारी शैक्षिक संबलनकर्ता के रूप में काम करते हैं। इसके लिए बीएड सेकंड इयर के 300 विद्यार्थियों को फील्ड इन्वेस्टीगेटर का काम सौंपा जाएगा। जिला एवं ब्लाक स्तरीय अधिकारियों को पंचायत गोद देकर शैक्षिक प्रगति की जिम्मेदारी सौंपी गई है। वहीं डिस्ट्रिक्ट मॉनिटरिंग यूनिट का भी गठन किया गया है जिसमें सीडीईओ, डाइट प्राचार्य एवं एडीपीसी शामिल होंगे। इसके साथ ही जिला स्तर पर सीडीईओ कार्यालय में नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया है। प्रश्न बैंक भी पीईईओ तक भिजवा दिए गए हैं।

सर्वे के लिए निर्देश प्राप्त हुए हैं, सभी को तैयारियां पूरी रखने को कहा है: समन्वयक

देश में होने वाला सबसे बड़ा आंकलन सर्वेक्षण है, जो दुनिया के बड़े आयोजनों में से एक है। सर्वे के लिए निर्देश प्राप्त हो गए हैं और स्कूल के प्रधानाध्यापकों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। सभी को पाठ्यक्रम सामग्री तैयार कराने कहा गया है। इसमें सैंपल शालाएं शामिल की जाएंगी। कक्षा 1 से 8वीं तक कार्य पुस्तिकाओं का भी वितरण करवा दिया गया है।
जितेंद्र कुमार बठला, सहायक परियोजना समन्वयक, एनएएस हनुमानगढ़।

खबरें और भी हैं...