पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पानी के माप पर तकरार:पंजाब ने आईजीएनपी में 1500 क्यूसेक पानी शेयर से ज्यादा चलने की रिपोर्ट भेजी, राजस्थान ने नकारा

हनुमानगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बांधों का लेवल घटने के साथ ही बढ़ने लगा गतिरोध, पानी की मात्रा यथावत रखने के लिए विभाग ने बीबीएमबी के सचिव को लिखा पत्र

भाखड़ा व पौंग बांध का जल स्तर घटने के साथ ही हरिके से इंदिरा गांधी नहर को मिलने वाले पानी के माप को लेकर पंजाब और राजस्थान के बीच तकरार बढ़ने लगी है। हरिके बैराज पर पौंड लेवल डाउन होने के बाद पंजाब ने अपने स्तर पर इंदिरा गांधी नहर परियोजना के माध्यम से राजस्थान को लगभग 1500 क्यूसेक अधिक पानी चलने की रिपोर्ट बनाकर जल संसाधन विभाग हनुमानगढ़ के अधिकारियों को भेज दी। यह रिपोर्ट देखते ही विभागीय अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए।

उन्होंने तुरंत पंजाब व बीबीएमबी के अधिकारियों से संपर्क कर अपना पक्ष रखा। इस संबंध में बीबीएमबी के सचिव को पत्र लिखकर पानी का माप दुबारा करवाने का अनुरोध किया है। पत्र में लिखा गया है कि शेयर के अनुसार ही राजस्थान को पानी मिल रहा है। अब इसमें भी कुछ कटौती कर दी गई है। तय शेयर से अधिक पानी मिलने का तो सवाल ही नहीं उठता। राजस्थान के अधिकारियों की गैर मौजूदगी में पानी की मात्र जांचकर ज्यादा पानी प्रवाहित होने की रिपोर्ट सही नहीं है। ऐसे में पानी का माप करने के लिए दुबारा तिथि तय कर राजस्थान को सूचित किया जाए। राजस्थान के अधिकारियों की मौजूदगी में मात्र जांचकर शेयर के अनुसार पानी चलाया जाए। पत्र में यह भी लिखा गया है कि जब तक दुबारा पानी की मात्रा नहीं जांची जाती तब तक किसी प्रकार की कटौती न की जाए।

राजस्थान का शेयर 8600, मिल रहा 8345 और पंजाब ने रिपोर्ट में लिखा 9900 क्यू. चल रहा पानी
वर्तमान में इंदिरा गांधी व भाखड़ा प्रणाली के लिए हरिके से 8600 क्यूसेक पानी मिलना चाहिए। गुरुवार को पंजाब ने जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को भेजी रिपोर्ट में बताया कि 9900 क्यूसेक पानी चल रहा है। हनुमानगढ़ के अधिकारियों ने बताया कि वास्तविकता में 8345 क्यूसेक पानी ही मिल रहा है। इसलिए बीबीएमबी के अधिकारियों को पत्र लिखकर अपना पक्ष रखा गया है। जानकारी के अनुसार वर्तमान में इंदिरा गांधी नहर परियोजना की नहरों को तीन में से एक समूह में चलाकर किसानों को 17 दिन बाद सिंचाई के लिए पानी दिया जा रहा है। इस रेगुलेशन के अनुसार ही पंजाब से पानी मिल रहा है। इसमें कटौती करते ही रेगुलेशन गड़बड़ा जाएगा।

राजस्थान को शेयर से कुछ कम ही पानी मिल रहा है। बीबीएमबी को पत्र लिखकर राजस्थान के अधिकारियों की मौजूदगी में मात्रा जांचने का अनुरोध किया गया है। शेयर से ज्यादा पानी मिलने का तो सवाल ही नहीं है।-विनोद मित्तल, चीफ इंजीनियर, जल संसाधन उत्तर जोन, हनुमानगढ़

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें