पानी चोरी रोकने के लिए बनाई ग्रुप-बी में 8 टीमें:ग्रुप-ए की टीमों की राउंड द क्लॉक ड्यूटी से पानी चोरी में आई कमी

हनुमानगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इंद्रा गांधी नहर। - Dainik Bhaskar
इंद्रा गांधी नहर।

हनुमानगढ़ जिले में रासलाना वितरिका में पानी चोरी रोकने के लिए गठित टीमों में शामिल अधिकारियों की ओर से नहर किनारे राउंड द क्लॉक ड्यूटी करने से किसानों को उनके हक का पूरा पानी मिल रहा है। ग्रुप-ए के दौरान टीमों की राउंड द क्लॉक ड्यूटी से सिंचाई पानी चोरी की घटनाओं पर काफी हद तक अंकुश लगा और मात्र पानी चोरी के दो केस सामने आए। अब बी-ग्रुप के दौरान पानी चोरी रोकने के लिए जल संसाधन विभाग की ओर से 8 टीमें बनाई गई हैं।

जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता (उत्तर) अमरजीत सिंह मेहरड़ा ने बताया कि 29 नवंबर से लेकर 6 दिसम्बर तक भादरा क्षेत्र की रासलाना वितरिका में सिंचाई पानी का ग्रुप चला। पानी चोरी रोकने के लिए विभाग की 12 टीमें बनाई गई थी। उनके सुपरवाइजर के लिए प्रशासन की ओर से 27 सुपरवाइजर लगाए गए थे। उन्होंने बताया कि वितरिका में 350 क्यूसेक पानी चला। पानी चोरी के मामलों पर अंकुश लगा और मात्र दो केस सामने आए। सभी किसानों को सिंचाई पानी मिला। संबंधित के खिलाफ कार्रवाई प्रस्तावित की गई है। गठित की गई टीमों की ओर से की जा रही राउंड द क्लॉक ड्यूटी से निश्चित रूप से सिंचाई पानी चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगेगा।

मुख्य अभियंता मेहरड़ा ने बताया कि आगे भी बनने वाले बी-ग्रुप के दौरान पानी चोरी रोकने के लिए विभाग की 8 टीमें बनाई गई हैं। लगातार यह टीमें काम करेंगी। मुख्य अभियंता ने बताया कि ग्रुप-ए के दौरान रासलाना वितरिका में पानी चोरी न हो, रबी फसलों की बिजाई हो सके और किसानों को उनके हक का पूरा पानी मिले, इसको लेकर बिजली, जलदाय, पीडब्ल्यूडी, शिक्षा, पशुपालन, श्रम कल्याण, खनन, समाज कल्याण, अल्पसंख्यक विभाग समेत जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को शामिल कर टीमें बनाई गई। सभी अधिकारियों को 3-3 दिन की ड्यूटी दी गई। जिन अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई। उन्होंने सुबह 6 से दोपहर 2 बजे, दूसरी शिफ्ट दोपहर 2 से रात 10 बजे और तीसरी शिफ्ट रात 10 से सुबह 6 बजे तक ड्यूटी दी। सभी संबंधित अधिकारियों ने रात में भी नहर किनारे ड्यूटी करते हुए पानी चोरी रोकने में योगदान दिया।

खबरें और भी हैं...