धान खरीद का एक दिन में प्रस्ताव बनाकर भेजा:तीन अहम बिंदुओं पर भिजवाएं प्रस्ताव, शासन सचिव के पत्र पर तुरंत कार्रवाई कर राज्य स्तरीय समिति को भेजा

हनुमानगढ़2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्ट्रेट के सामने लगाई गई धान के ढेर। - Dainik Bhaskar
कलेक्ट्रेट के सामने लगाई गई धान के ढेर।

हनुमानगढ़ जिले में धान की समर्थन मूल्य पर खरीद को लेकर किसानों के आंदोलन ने प्रशासन के हाथ-पांव फूला रखे हैं। प्रशासन इस कदर सक्रिय है कि जिन कार्यों में पहले एक हफ्ते से दस दिन का समय लग जाता था, वहीं पत्रातार अब एक दिन में निपटाया जा रहा है। धान की खरीद से संबंधित एक प्रस्ताव जिला प्रशासन ने महज एक दिन में ही तैयार कर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को भेजा है।

12 अक्टूबर को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के शासन सचिव नवीन जैन की ओर से कलेक्टर को एक उप समिति का गठन कर परिवहन शुल्क एवं मंडी लेबर चार्जेज के प्रस्ताव तैयार करवाकर राज्य स्तरीय समिति को भेजने के निर्देश दिए गए थे। कलेक्टर नथमल डिडेल ने खुद की अध्यक्षता में भारतीय खाद्य निगम क्षेत्रीय कार्यालय का प्रतिनिधि सम्मिलित करते हुए उप समिति का गठन कर एक दिन के भीतर ही प्रस्ताव बना कर राज्य स्तरीय समिति को भेज दिए।

कलेक्टर ने बताया कि जिले में धान की समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू करवाने को लेकर जिला प्रशासन पूरी कोशिश कर रहा है। धान की समर्थन मूल्य पर खरीद 15 साल बाद फिर से शुरू हो रही है। इसमें प्रोसेस को लेकर कुछ समय लग सकता है, लेकिन इसका फायदा जिले के किसानों को मिलेगा। कलेक्टर ने किसानों से धरना समाप्त कर प्रशासन को सहयोग करने की अपील की है।

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की ओर से धान को हैण्डलिंग, परिवहन और मिलिंग के संबंध में प्रस्ताव मांगे थे। इनकी दरें तय करना काफी समय लेता है, लेकिन इस बार प्रशासन ने महज एक दिन में ही प्रस्ताव तैयार कर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को भिजवा दिए।

खबरें और भी हैं...