विचार-विमर्श:शिक्षकों के दो दिवसीय सम्मेलन का समापन

हनुमानगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नवगठित कार्यकारिणी का विभिन्न समस्याओं को लेेकर संघर्षरत रहने का संकल्प

राजस्थान शिक्षक संघ (प्रगतिशील) जिला स्तरीय शैक्षिक सम्मेलन के दूसरे दिन शिक्षक समस्याओं पर विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान जिलाध्यक्ष रामलुभाया तिन्ना, प्रदेशाध्यक्ष बेगराज खोथ, जिला मंत्री ओपी नांदेवाल ने शिक्षकों की वेतन विसंगतियों, स्थानांतरण सहित राष्ट्रीय कार्यक्रमों के अलावा शिक्षकों को हर तरह की ड्यूटी से मुक्त करने के प्रस्ताव भिजवाए। इस मौके पर महावीर सहारण, सुरेश कुमार, कुलवंत सिंह, भूराराम सहारण, कुलदीपसिंह, ओमईश्वर बठला, अशोक रेगर, सुखदेव, जगदीश, श्रवण कुमार, पतराम सिहाग, जगदीश स्वामी, हुकुमसिंह, राजकमल शर्मा आदि मौजूद थे।

राजस्थान प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षक संघ का जिला स्तरीय सम्मेलन राउप्रावि नंबर 1 में मंगलवार को संपन्न हुआ। इस दौरान संगठन की कार्यकारिणी भी गठित की गई। जिसमें जिला शाखा के अध्यक्ष पद के लिए हंसराज बिस्सू, वरिष्ठ उपाध्यक्ष ओमप्रकाश कालवा, मंत्री सोमसेन, कोषाध्यक्ष पवन सोनी, संयुक्त सचिव बलजीत सिंह और महिला मंत्री गीता का सर्वसम्मति से निर्वाचन किया गया। इस मौके पर तरुण पिलानिया, सूर्यप्रकाश जोशी, सतीश सैनी, बलवंत राम, रूपराम टाक, बिहारी लाल, धर्मपाल सुंडा, राजेश स्वामी, मंगलसिंह, लाधुराम बिजारनिया आदि मौजूद थे।

जंक्शन स्थित श्री गुरु रविदास मंदिर में चल रहे शिक्षक संघ अंबेडकर के दो दिवसीय जिला अधिवेशन के दूसरे दिन मंगलवार रोस्टर प्रणाली, छात्रवृति, बकाया एसीपी प्रकरणों पर विचार-विमर्श किए गए। प्रदेश अध्यक्ष त्रिलोकीनाथ माहोर ने शिक्षकों की ओपीएस, बीएलओ ड्यूटी व बकाया छात्रवृतियां की समस्या निवारण की मांग उठाई। इसके साथ ही छात्रवृति सूचकांक, वेतन विसंगति, ओपीएस लागू करने, शिक्षकों को बीएलओ कार्य से मुक्त कर मुख्य उद्देश्य तक ही सीमित करने की मांग की। इस मौके पर जिला महामंत्री मनसुखजीतसिंह बंगा, प्रेमकुमार, इंद्राज मेहरड़ा, कान्हाराम कटारिया, राजेन्द्र माड़ैया, पालसिंह, एडवोकेट पूर्णसिंह, कृपालसिंह, बाबा रामसिंह आदि मौजूद थे।

टाउन स्थित राउमा विद्यालय में मंगलवार को राजस्थान शिक्षा सेवा परिषद का दो दिवसीय शैक्षिक सम्मेलन संपन्न हुअा। इस दौरान शैक्षिक विषयों पर चर्चा, वर्तमान परिवेश में प्रधानाचार्य की भूमिका एवं चुनौतियां विषयक चर्चा की गई। वक्ताओं ने प्रधानाचार्य की बढ़ती भूमिका एवं दायित्व को समझते हुए विभिन्न मांगों पर चर्चा की गई। वेतनमान केंद्र के समक्ष करने हेतु सांगठनिक प्रयासों की आवश्यकता व्यक्त की गई। इसके बाद सर्वसम्मति से नई जिला इकाई गठित की गई है। जिसमे महावीर भाकर को सभाअध्यक्ष, जयपालसिंह को जिला अध्यक्ष, हरीश बेनीवाल को जिला मंत्री, विरत तनेजा को जिला कोषाध्यक्ष अध्यक्ष, अनुराधा को हनुमानगढ़ ब्लॉक अध्यक्ष, रमाकांत टाटिया को टिब्बी ब्लाक अध्यक्ष, भूपेन्द्र नरुका को पीलीबंगा ब्लाक अध्यक्ष, गुरमीत सिंह छाबा को संगरिया ब्लाक अध्यक्ष बनाया गया। इस मौके पर दुर्गादत सैनी, महिपाल गढ़वाल, सुरेंद्रपाल गुप्ता, रोहिताश कड़वासरा, सुखमेंद्र आदि मौजूद थे |

खबरें और भी हैं...