पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कृषि कानून:जन जागृति अभियान के तहत कांग्रेस नेताओं ने कृषि कानूनों की कमियां बताई, कई जगह हुए कार्यक्रम

हनुमानगढ़6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

किसान जागृति यात्रा के तहत रविवार को क्षेत्र के विभिन्न गांवों में जनसभाओं का आयोजन कर किसानों को केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि क्षेत्र के कानूनों के बारे में बताया गया। यात्रा संयोजक मनीष धारणियां ने कहा कि केंद्र सरकार काले कानून बनाकर खेती के पूरे तंत्र को अपनी चेहती कंपनियों को बेचना चाहती है। इसलिए कोरोना जैसी महामारी में भी सदन में बिना चर्चा किए ये तीनों काले कानून बनाए हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी चाहते हैं कि किसान, आढ़ती और मजदूर का गठजोड़ खत्म हो और पूरा कृषि तंत्र अंबानी व अडानी के हाथों में हो। सहसंयोजक अशोक कुलड़िया ने कहा कि मोदी सरकार किसानों की आवाज दबाना चाहती है। इसलिए किसानों को बांटने का काम कर रही है। उन्होंने कहा की कांग्रेस पार्टी हमेशा किसानों के साथ है।

पूर्व मंडी समिति चेयरमैन रामेश्वर चांवरिया ने कहा कि इन तीन कृषि विधेयक से किसान बर्बाद हो जाएंगे। ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष इशाक खान ने कहा की केंद्र सरकार द्वारा लाए गए ये तीनों काले कानून पूरी तरह से किसान विरोधी है। इस मौके पर सौरभ राठौड़, गुरदीप चहल, रामविलास चोयल, मुकेश भार्गव, अश्वनी पारीक, संजय पूनियां, मानाराम ढाका, विजय ढाका, रोहित स्वामी, कृष्ण स्वामी, चंद्र स्वामी, हवा सिंह, उम्मेद सिंह राजावत, मनीष मक्कासर, विजेंद्र जिनागल, रामकुमार दूधवाल, हाकम अली, कृपाल सिंह आदि मौजूद थे।

इसके अलावा, मलकोकां व 3 एमओडी में नुक्कड़ सभाओं का आयोजन किया गया। इनमें मनीष मक्कासर व डॉ. सौरभ राठौड़ ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए नए कानून से किसानों को भारी नुकसान होगा। केंद्र सरकार ने एमएसपी की कोई गारंटी नहीं दी है। आने वाले समय में मंडियां खत्म हो जाएगी और किसानों की फसलें औने-पौने दामों में खरीदी जाएगी। नुक्कड़ सभाओं में आत्मा सिंह, सुखदेव सिंह, जगतार सिंह, इकबाल सिंह, मुख्तियार सिंह, जगर सिह, बलजीत सिंह रमाणा, राजासिंह, दर्शन सिंह, बलदेव सिंह आदि मौजूद रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें