न्यूनतम तापमान में आ सकती है गिरावट:7KM प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी हवाएं, फसलों को पाले से बचाने का प्रयास

हनुमानगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तापमान में गिरावट से छाया घना कोहरा से विजिबिलिटी हुई कम। - Dainik Bhaskar
तापमान में गिरावट से छाया घना कोहरा से विजिबिलिटी हुई कम।

हनुमानगढ़ क्षेत्र में गुरुवार सुबह घना कोहरे छाने से विजिबिलिटी कम हो गई। दोपहर करीब 11 बजे तक कोहरा छाए रहने से जनजीवन प्रभावित रहा। सड़क मार्ग से लेकर रेलवे मार्ग पर घने कोहरे से विजिबिलिटी कम होने से वाहन और ट्रेनों की रफ्तार में कमी आई। कोहरे से 200 मीटर तक भी कुछ दिखाई नहीं दिया। इस कारण अधिकांश ट्रेनें देरी से चल रही हैं। अब तीन-चार दिन से बादल छंटने के बाद किसानों की चिंता भी बढ़ी है। शीतलहर और तापमान में गिरावट के चलते किसान फसलों को पाला से बचाने के लिए चिंतित नजर आ रहे हैं। गुरुवार को न्यूनतम तापमान 6 डिग्री दर्ज किया गया।

शुष्क मौसम का पूर्वानुमान
संगरिया स्थित मौसम केंद्र की ओर से 15 जनवरी तक के मौसम का पूर्वानुमान जारी किया गया है। इसके अनुसार आने वाले दिनों में मौसम शुष्क रहेगा और ठंड बढ़ेगी। केंद्र से जारी सूचना के मुताबिक आगामी दिनों में न्यूनतम तापमान में गिरावट आने की संभावना है। इस दौरान 5-7 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ठंडी हवा चलेगी। शुष्क मौसम में ठंडी हवा की आशंका इसके चलते फसलों का पाले से बचाव जरूरी है।

सर्दी-जुकाम होने पर कोरोना का डर
बारिश के बाद मौसम साफ होने से ठंड बढ़ गई है। इससे दिन में ठिठुरन महसूस हो रही है। शहर के तापमान में पिछले सप्ताह से उतार-चढ़ाव हो रहा है। ठंड के मौसम में सर्दी-जुकाम होना सामान्य है लेकिन हर दिन कोरोना संक्रमितों की संख्या फिर से बढ़ने से एक बार फिर लोग तनाव में आ रहे हैं और अपने स्वास्थ्य के प्रति चिंतित हैं। एक हफ्ते में शुष्क ठंड का असर लोगों की सेहत पर पड़ने लगा है। कोहरे और ठंड के कारण लोग गले का दर्द, खांसी, जुकाम, सिरदर्द सहित अन्य कई बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। ज्यादातर सर्दी-जुकाम होने पर लोग डॉक्टर के पास नहीं जाते लेकिन अभी सर्दी-जुकाम होने पर भी लोग डॉक्टर के पास पहुंच रहे हैं और अपनी चिंता जता रहे हैं कि कहीं कोरोना तो नहीं है।