पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुक्ति का इंतजार:1 दिन में 22 अंतिम संस्कार, 14 कोविड प्रोटोकाल से, मुक्ति के लिए भी इंतजार

श्रीगंगानगर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोविड संक्रमण से बढ़ रही माैताें से शहर की दाेनाें श्मशान भूमि में दृश्य बेहद दर्दनाक हाेते जा रहे हैं। यहां के पदाधिकारियाें के लिए ये जिंदगी का सबसे हृदय विदारक समय है। मंगलवार काे भास्कर टीम दाेनाें श्मशान भूमि पहुंची। इस दाैरान अर्थियों के साथ शोकाकुल लोग आ रहे थे। उन्हें अपने परिजनाें के शवाें का अंतिम संस्कार करने के लिए भी लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

कल्याण भूमि समिति के लाेगाें का कहना है कि आम दिनों में कई बार 5 से 10 शव आते थे, तो ये ज्यादा नहीं लगते थे। अब राेज शवों की लंबी हाेती कतार, चिता स्थल की सीमित जगह और रोते-बिलखते स्वजनों को देखकर खुद काे राेना आ जाता है। मंगलवार काे हनुमानगढ़ राेड स्थित श्मशान भूमि में शाम 4:37 बजे तक 3 काेराेना पाॅजिटिव का अंतिम संस्कार किया गया। वहीं, पदमपुर राेड स्थित श्रीकल्याण भूमि में 11 काेराेना पाॅजिटिव और 7 सामान्य शवाें का विधिवत रूप से दाह हुआ। यहां काम करने वाले लाेगों का कहना है कि हर दिन इस तरह से शवों की कतार लगते हुए देख रहे हैं। आलम यह है कि एक चिता ठंडी नहीं हो पाती और दूसरी चिता की तैयारी शुरू करनी पड़ती है।

हनुमानगढ़ राेड श्मशान भूमि में जगह नहीं हाेने से दाे शवाें काे श्रीकल्याण भूमि भिजवाया
हनुमानगढ़ राेड स्थित श्मशान भूमि के मैनेजर सुशील वर्मा बताते हैं कि अपराह्न 3 बजे तक शवाें का अंतिम संस्कार करने के लिए पर्याप्त जगह की कमी हाे गई थी। इस दाैरान दाे शवाें काे लेकर परिजनाें काे अंतिम संस्कार के लिए जगह की कमी बताई और पदमपुर राेड स्थित श्री कल्याण भूमि में दाह संस्कार करवाने के लिए आग्रह किया ताे वे शवाें काे वहां ले गए। इस श्मशान भूमि में एक साथ 6 शवाें का अंतिम संस्कार हाे सकता है। लेकिन तीन शवाें की अस्थियां पहले से पड़ी थी।

बुधवार काे 3 शवाें का अंतिम संस्कार करने के लिए पर्याप्त जगह हाे जाएगी। पदमपुर राेड स्थित श्री कल्याण भूमि समिति के अध्यक्ष महेश पेड़ीवाल ने बताया कि यहां एक साथ 31 शवाें का अंतिम संस्कार किया जा सकता है। लेकिन यहां पहले से अस्थियां माैजूद हाेने से शवाें के अंतिम संस्कार में थाेड़ा समय लग रहा है। दिल्ली निवासी परिजन ने बताया कि हमारा परिचित दिल्ली में काेराेना पाॅजिटिव हाे गया था।

दिल्ली में हाॅस्पिटलाें का बुरा हाल हाेने के कारण बठिंडा ले आए। वहां इलाज के दाैरान माैत हाे गई। इसके बाद हम शव काे लेकर अपने शहर श्रीगंगानगर ले आए और पदमपुर राेड कल्याण भूमि में अंतिम संस्कार किया। एक अन्य परिजन ने बताया कि शवाें के अंतिम संस्कार में देरी से काफी परेशानी हाे रही है। घर में भी शव काे ज्यादा देर तक नहीं रख सकते हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें