न्यायालय ने सुनाई सजा:बच्ची से छेड़छाड़ के दाेषी झाेलाछाप डॉक्टर काे 5 वर्ष का कठोर कारावास व 10 हजार रुपए का जुर्माना

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बच्ची से छेड़छाड़ करने के मामले में एक अधेड़ झोलाछाप डॉक्टर को न्यायालय ने पांच वर्ष कठोर कारावास की सजा सुनाई है। ये फैसला मंगलवार को विशेष पोक्सो न्यायालय संख्या एक ने सुनाया। न्यायालय ने दोषी अशोक कुमार पुत्र परमानंद निवासी केसरीसिंहपुर को 10 हजार रुपए जुर्माने से भी दंडित किया है। जुर्माना अदा न करने पर उसे एक वर्ष अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा। दोषी बिना डिग्रीधारी अवैध मेडिकल प्रैक्टिशनर है। दोषी गिरफ्तारी के बाद से ही जेल में है।

विशेष न्यायालय के सरकारी वकील गुरचरण सिंह रुपाणा के अनुसार केसरीसिंहपुर थाना में 30 दिसंबर 2018 को एक व्यक्ति ने मुकदमा दर्ज करवाया था कि 24 दिसंबर को उसकी 12 वर्ष की बेटी घर से ट्यूशन पढ़ने जा रही थी। रास्ते में डॉ. अशोक कुमार अपने घर के बाहर खड़ा था। उसने बच्ची को अपने पास बुलाया और उसे दो रुपए लेकर चीज देने का बहाना बनाकर अपने घर ले गया।

आरोप था कि इसके बाद अशोक कुमार ने मोबाइल से अश्लील तस्वीरें दिखाते हुए बच्ची से छेड़छाड़ की। तब बच्ची ने शोर मचाते हुए भागकर अपना बचाव किया। रिपोर्ट के अनुसार पीड़ित दिमागी तौर पर भोली है। इससे पूर्व भी अशोक कुमार ने इस तरह की अश्लील हरकत थी। अशोक कुमार द्वारा धमकाने की वजह से उसने डर के मारे किसी को नहीं बताया।

इस प्रकरण में न्यायालय में 22 गवाहों की गवाही दर्ज हुई। न्यायालय ने दाेषी अशाेक कुमार काे आईपीसी की धारा 363, 354, 354 (क) व 7/8 पोक्सो अधिनियम के तहत 5 वर्ष कठोर कारावास एवं 10 हजार रुपए जुर्माने की सजा से दंडित किया। जुर्माना अदा न करने पर दोषी को 1 वर्ष अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा। न्यायालय ने पीड़ित को प्रतिकर देने की अनुशंसा भी की है।

खबरें और भी हैं...