पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सैंपल का संकट:घंटों इंतजार के बाद  हर दिन निराश लौटते हैं कोरोना सस्पेक्टेड, साढ़े बारह बजे बाद नहीं होता रजिस्ट्रेशन

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
श्रीगंगानगर में कोरोना सैंपल कलैक्शन सेंटर के बाहर लगी कतार।

कोरोना को लेकर हर कोई परेशान है। आलम यह है कि थोड़ी सी खांसी आए तो व्यक्ति सैंपल देने का प्रयास करता है। श्रीगंगानगर में भी हर दिन ऐसा ही हो रहा है। कोरोना के लिए सैंपल देने वाले परेशान हाल लोग घंटों इंतजार के बाद निराश लौट रहे हैं। इन लोगों का कहना है कि शहर में सरकारी अस्पताल के सामने ही सैंपल कलेक्शन सेंटर है लेकिन वहां साढ़े बारह बजे के बाद सैंपल ही नहीं हो पाता है। वहां रजिस्ट्रेशन का समय साढ़े बारह बजे है। इसके बाद लाख कोशिश करने पर भी वहां सैंपल नहीं होता। ऐसे में अगर व्यक्ति को कोरोना है भी तो वह सभी के बीच आकर उसे फैलाने में मददगार ही बनता है।

लंबी कतार, अगले दिन तक इंतजार
शहर के सैंपल कलेक्शन सेंटर पर शुक्रवार दोपहर बारह बजकर बीस मिनट तक लंबी कतार थी। इसी दौरान चिकित्सा विभाग के एक कर्मचारी ने घोषणा करते हुए बताया कि साढ़े बारह बजे बाद सैंपल नहीं लिए जाएंगे। कतार में लगे कुछ लोगों ने उससे कहा कि वे परेशान हैं और सैंपल देना जरूरी है लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई। दोपहर ठीक साढ़े बारह बजे सैंपल कलेक्शन सेंटर के गेट बंद कर लिए गए।

नहीं होती सुनवाई
कतार में लगे लोगों ने बताया कि वे कोरोना के लक्षणों से पीडि़त हैं लेकिन यहां उनके सैंपल ही नहीं लिए जा रह हैं। उनका कहना था कि करीब दो घंटे कतार में लगने के बाद रजिस्ट्रेशन ही नहीं हो पाया है।