पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दलहन स्टाॅक सीमा का विरोध:सरकारी आदेश आते ही 700 क्विं. गिरे भाव, 5225 में खरीदा चना 4500 में बेच रहे व्यापारी

श्रीगंगानगर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिलेभर की मंडियों में 2 दिन की हड़ताल शुरू }अब दालें दो हजार क्विं., चना एक हजार क्विं. रख सकेंगे व्यापारी

सरकार ने दलहन की स्टाॅक सीमा तय कर दी है, इसके तहत अब दालाें का कुल स्टाॅक दाे हजार क्विंटल व एक दाल का स्टाॅक एक हजार क्विंटल से अधिक नहीं रख सकेंगे। साथ ही सरकार ने मूंग काे स्टाॅक सीमा से फ्री रखा है। सरकार की इस घोषणा से जहां आम आदमी को फायदा होगा। भाव नहीं बढ़ेंगे।

वहीं, दलहन व्यापारियाें का कहना है कि यह निर्णय छाेटे व मध्यम व्यापारियाें काे बर्बाद करने वाला है। व्यापारियाें काे छह हजार रुपए प्रति क्विंटल के दामाें पर खरीदा चना अब एमएसपी 5225 रुपए प्रति क्विंटल से भी 700 रुपए प्रति क्विंटल तक के कम दामाें पर बेचना पड़ रहा है।

जिले में चने की दाल मिलें भी स्थापित हैं। मंडियाें में भी चने का उत्पादन अच्छा हाेता है तथा किसान सिंचित व असिंचित क्षेत्र में चने की बुवाई करते हैं। चने की फसल पकने के बाद किसान मंडियाें में बेच चुके हैं। व्यापारियाें व दाल मिलाें के मालिकाें की ओर से वर्षभर के लिए स्टाॅक भी किया जाता है।

इस बार भी व्यापारियों ने अपनी चना मिलों के लिए एमएसपी 5225 रुपए प्रति क्विंटल से भी ज्यादा 6 हजार रुपए क्विं. में चना खरीदकर स्टॉक किया। अब स्टाॅक सीमा तय होने के बाद जिन व्यापारियाें के पास माल अधिक है, उन्हें कम दामों पर बेचना पड़ रहा है।

श्रीगंगानगर नई धानमंडी में चना एमएसपी से 725 रुपए प्रति क्विंटल कम यानी 4500 रुपए प्रति क्विंटल के भावाें पर बिक रहा है। व्यापारियों का कहना है कि यही स्थिति रही तो व्यापारी बर्बाद हो जाएंगे।

आमजन काे फायदा: भाव बढ़ेंगे नहीं, जमाखोरी रुकेगी

सरकार की ओर से दलहनाें पर स्टाॅक सीमा तय करने के बाद अधिक स्टाॅक करने वाले व्यापारी चना बेच रहे हैं। इससे चने के भावाें में भारी गिरावट आई है। चना दाल के भावाें में भी गिरावट आना तय है। इससे आम उपभाेक्ताओं काे सस्ते दामाें पर दालें उपलब्ध हाे जाएंगी। वहीं महंगे दामाें पर खरीदा चना सस्ते में बेचने पर व्यापारियाें काे नुकसान हाेगा।

सरकार की ओर से स्टाॅक सीमा तय करते ही बाजार में मंदी का दाैर शुरू हाे गया है। व्यापारियाें ने अच्छी क्वालिटी का चना 6 हजार रुपए प्रति क्विंटल तक खरीदा है। लेकिन अब मंडी में खुली नीलामी पर चना 45 साै रुपए क्विंटल बिक रहा है। इससे व्यापारियाें काे भारी नुकसान हुआ है।- मनाेज गुप्ता, चना काराेबारी, श्रीगंगानगर

मूंग काे स्टाॅक सीमा से बाहर रखना भी सरकार की चाल है। महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश में मूंग की फसल बाजार में आ चुकी है। राजस्थान में मूंग फसल की बुवाई हाे रही है तथा 60 से 70 दिन में फसल पककर बाजार में आ जाएगी। एमएसपी 72 साै रुपए है। व्यापारी मूंग खरीदेंगे तब सरकार इस पर स्टाॅक सीमा लगा देगी। - बनवारीलाल गाेयल, चना काराेबारी

खबरें और भी हैं...