पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sriganganagar
  • Assistant Development Officer Sadulshahar Murdered By Giving Overdose Of Drug, Father in law, Rape Of Sister in law, Sisters in law And Sister in law, Case

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हत्या की वारदात:सहायक विकास अधिकारी सादुलशहर की नशे की ओवरडाेज देकर हत्या पत्नी, ससुर-सास, सालियों व साढ़ू पर साजिश रच वारदात का आराेप, केस

श्रीगंगानगर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मनीष चाैधरी - Dainik Bhaskar
मनीष चाैधरी

शहर के बुजुर्ग केसरीचंद चाैधरी ने अपने पुत्र मनीष चाैधरी की उसके ससुरालियाें पर साजिश के तहत हत्या कर साक्ष्य मिटाने के आराेप लगाए हैं। इस संबंध में पीड़ित की ओर से अदालत काे दिए गए इस्तागासे पर अब सदर थाना में मुकदमा दर्ज हुआ है। इस मुकदमे की आरपीएस राेहित सांखला जांच कर रहे हैं।

उन्हाेंने मंगलवार काे परिवादी काे थाने बुलाकर उनके बयान कलमबद्ध कर लिए हैं। हालांकि इस संबंध में घटना के समय मर्ग दर्ज हुई थी। उसकी जांच इसी थाने के हवलदार दर्शनसिंह कर रहे हैं। मामले के अनुसार चक तीन ई छाेटी की गली नंबर चार निवासी परिवादी केसी चाैधरी ने इस्तगासे में आराेप लगाए हैं कि उसका बेटा मनीष चाैधरी सादुलशहर पंचायत समिति में अधिकारी के पद पर तैनात था।

उसके ससुर रायसिंहनगर निवासी महेंद्रसिंह जाट, सास कमलादेवी, साला श्यामसुंदर जाट, साली रेखा उर्फ बिट्टू पत्नी स्वर्गीय कृष्ण, साढ़ू रामावाली व हाल एसआई चूरू राधेश्याम, राधेश्याम की पत्नी इंदूबाला, परिवादी के बेटे मनीष की पत्नी बिंदूबाला चाैधरी, पंजाब के कटेड़ा निवासी कालूराम, हनुमानगढ़ टाउन में नई अाबादी निवासी मुकेश बिश्नाेई ने एक राय हाेकर लंबे समय में साजिश रचकर परिवादी के बेटे मनीष काे स्लाे पाॅइजन दवा के रूप में देकर मार दिया।

उसे इन लाेगाें ने गंभीर अवस्था में मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया था। वहां उसकी 14 दिसंबर काे माैत हाे गई। इस संबंध में आराेपियाें ने परिवादी काे सूचना तक नहीं दी। साजिश कर्ताओं ने मृतक के साले श्यामसुंदर काे ही उसका वारिस बनाकर सदर थाना में मर्ग दर्ज करवाकर चुपचाप पाेस्टमार्टम करवा दिया।

अंतिम संस्कार करवाकर साक्ष्य भी नष्ट कर दिए। परिवाद में पीड़ित वरिष्ठ नागरिक केसी चाैधरी ने बताया कि कि मनीष पंचायत राज विभाग में अधिकारी था। उसके ससुराल के लाेग तथा सालियां व साढ़ू उसके पास ही रहते थे। इन लाेगाें ने लंबी साजिश के तहत मनीष काे बहलाकर-बहकाकर नशे का आदी बना दिया। उसे नशे के साथ साथ स्लाे पाॅइजन भी दिया जाता रहा। अंतत: ये लाेग अपनी साजिश में कामयाब हाे गए।

2017 में पहली बार किया प्रयास, तब परिवादी ने जयपुर में इलाज करवा बचाई थी मनीष की जान

आराेपियाें ने इस साजिश काे 2017 में ही अंजाम दे दिया था। तब परिवादी ने आराेपियाें से लड़ झगड़कर अपने बेटे मनीष काे जयपुर में उच्च प्रशिक्षित विशेषज्ञ डाॅक्टराें से उपचार दिलवाया। इससे मनीष पूरी तरह ठीक हाे गया था। लेकिन उसके ठीक हाेते ही इन आराेपियाें ने वापस साजिशें की और उसे तबादला करवाकर सादुलशहर ले गए। वह सादुलशहर में ही रहता था।

पीड़ित वरिष्ठ नागरिक केसी चाैधरी ने परिवाद में बताया कि मनीष के ससुराल वालाें की उसकी नाैकरी और प्राेपर्टी पर शुरू से ही बुरी नीयत थी। इसलिए वे हमेशा मनीष काे परिवार से दूर रखने की काेशिशें करते थे। आखिरकार वे इस याेजना में सफल भी रहे। आराेपियाें ने मनीष की पूरी प्राेपर्टी और वेतन पर ताे कब्जा किया हुआ ही था।

अब अनुकंपा नाैकरी भी हथियाने का शक है। पुलिस सूत्राें के अनुसार परिवाद में जाे आराेप हैं उनकाे वैज्ञानिक तरीके से ही साबित किया जा सकता है। इस संबंध में मनीष चाैधरी की मृत्यु के समय सदर पुलिस ने पाेस्टमार्टम करवाया था। विसरा के नमूने भी जांच काे जाेधपुर फाेरेंसिक लैब भिजवाए गए थे। घटना काे करीब एक माह हाे गया है। विसरा एफएसएल और पाेस्टमार्टम रिपाेर्ट से मृत्यु के कारण तय हाेने में बड़ी मदद मिलेगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser