पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सूरतगढ़ नगरपालिका का मामला:ऑडिट टीम ने सहायक राजस्व निरीक्षक को माना 11 लाख के गबन का दोषी तो कर्मी ने परिवार सहित खुदकुशी करने की दी चेतावनी

सूरतगढ़10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ईओ व कैशियर पर तंग-परेशान करने का आरोप, मुख्यमंत्री को पत्र भेजा गया

नगर पालिका के सहायक राजस्व निरीक्षक कालूराम सैन ने मंगलवार को एसजेएसआरवाई योजना में दोषी साबित करने पर ईओ व कैशियर पर तंग परेशान करने पर परिवार सहित खुदकुशी करने की चेतावनी दी है। इस संबंध में सैन ने सीएम को पत्र भी लिखा है। उसने लिखा है कि वर्ष 2010 में उक्त योजना में सीओ पद पर ड्यूटी लगाई गई थी। स्वर्ण जयंती शहरी राेजगार याेजना सरकार द्वारा 2013-14 में बंद कर दी गई थी।

इससे पूर्व इस योजना की शाखा में विभिन्न कर्मचारियों ने सीओ के पद पर कार्य किया था। योजना के बंद होने के बाद वर्ष 2017-18 में ऑडिट टीम द्वारा इस योजना के मद में बैंक स्टेटमेंट व केशबुक का मिलान करने पर 11 लाख 81 हजार 662 रुपए कैश में कम दर्शाए गए।

इस कारण लेखा शाखा के तत्कालीन  अकाउंटेंट रामकुमार, लालचंद सांखला, रणजीत खुडिया, राजकुमार छाबड़ा व राकेश मेहंदीरता द्वारा योजना के बैंक खातों का बैंक स्टेटमेंट से मिलान नहीं किया गया। साथ ही बैंक खातों के व्यवहार का लेखा-जोखा भी केश बुक में दर्ज नहीं किया।

इस कारण से उक्त लाखों की राशि में अंतर आया। योजना के बंद हो जाने के बाद सरकार के निर्देशानुसार एसजेएसआरवाई के अन्य बैंकों में खुलवाए गए खाते नवंबर 2014 में बंद करने के बाद शेष राशि को योजना के मुख्य खाते में हस्तांतरित कर दिए। योजना में जो भी कार्य किया वो सभी वाउचर कैश बुक में दर्ज है।

इसके बावजूद पूर्व सीओ व कैशियर द्वारा की गई गड़बड़ी का आरोप मेरे पर लगाया जा रहा है। राशि को लेकर पालिका ईओ व अधिकारी द्वारा परेशान किया जा रहा है। पत्र में मांग की है कि मामले में दोषी सीओ, लेखाकार व कैशियर भरे गए कैशबुक व स्टेटमेंट के अंतर की जांच की जाए तथा उक्त राशि उनसे वसूली जाए। अगर मेरे अकेले के खिलाफ मामले को लेकर एफआईआर व विभागीय कार्रवाई की गई तो मानसिक रूप से परेशान होकर अपने पत्नी व 2 बच्चों के साथ खुदकुशी करने को मजबूर होना पड़ेगा।

राज्य सरकार के आदेश पर होगी कार्रवाई: ईओ चुघ
नगरपालिका ईओ मिलखराज चुघ ने बताया कि सरकार की ओर से गठित ऑडिट टीम ने कर्मचारी कालूराम सैन को दोषी माना था। पूर्व में ईओ द्वारा कार्रवाई नहीं करने पर उन्हें चार्जशीट मिली थी। ऐसे में कर्मचारी द्वारा एक पत्र भेजा गया है जिसमें खुदकुशी का जिक्र किया है।

जिसे लेकर सिटी थाने में कर्मचारी को पाबंद करने के लिए मामला दर्ज करवाया है। पूर्व में कर्मचारी को नोटिस देकर जवाब मांगा गया था, जिस पर कोई सहयोग नहीं किया गया। ऐसे में गबन के दोषी कर्मचारी पर एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी व गबन की राशि वसूल की जाएगी। कर्मचारी अनावश्यक रूप से दबाव बना रहा है। जबकि मेरे आने से पूर्व ऑडिट टीम ने उसे गबन का दोषी माना है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें