पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बचाव के टिप्स:रहिए सावधान, सुरक्षित रहना उचित, लेकिन बिना डॉक्टर की सलाह नहीं करवाएं एचआरसीटीसी

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर  के वरिष्ठ डॉ. पीयूष राजवंशी। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर के वरिष्ठ डॉ. पीयूष राजवंशी।

कोरोना इन दिनों खूब तेजी पर है। ऐसे में सावधान होना भी जरूरी है और बचाव के तरीके अपनाना भी उचित है लेकिन मामूली खांसी जुकाम होने पर ही एचआरसीटीसी करवा लेने जैसे कदम भी उचित नहीं है। यह कहना है शहर के वरिष्ठ डॉक्टर पीयूष राजवंशी का। डॉ.राजवंशी पूर्व में सरकारी अस्पताल में सेवाएं दे चुके हैं। उनका कहना है कि शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा लेना ही अच्छा उपाय है।

डॉक्टर की सलाह पर करवाएं एचआरसीटीसी

डॉ.राजवंशी बताते हैं कि आजकल आरटीपीसीआर रिपोर्ट के साथ एचआरसीटीसी करवा लेने के लिए लोग तत्पर रहते हैं। मेरी राय में आरटीपीसीआर से शरीर में वायरस की उपस्थिति का पता लगता है। अब यदि वायरस शरीर में मौजूद है तो दवाएं ही इसका उपचार हो सकती हैं। पूरी दवाएं उपयोग करें लाभ मिलेगा। वे बताते हैं कि एचआरसीटीसी केवल गंभीर रोग से पीडि़तों के लिए ही जरूरी है। सामान्य व्यक्ति को तो यह बहुत सारे एक्स-रे से एक साथ निकलने वाली किरणों जितना नुकसान पहुंचाता है।

इम्युनिटी बढ़ाएं
सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण इम्युनिटी बढ़ाना है। इसके लिए देशी तरीके अपनाए जा सकते हैं। घर पर ही काढ़ा तैयार कर शुरुआती तौर पर कोरोना से बचाव किया जा सकता है। कुछ विशेष व्यायाम से ऑक्सीजन स्तर बढ़ाया जा सकता है।