श्रीबिजयनगर में पानी के लिए प्रदर्शन:भाजपा नेताओं ने की चार में से दो समूह पानी की मांग, इसी मांग पर घड़साना  में चल रहा है आंदोलन, लगा रखा है महापड़ाव

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीबिजयनगर में किसानों के प्रदर्शन के दौरान मौजूद भाजपा नेता। - Dainik Bhaskar
श्रीबिजयनगर में किसानों के प्रदर्शन के दौरान मौजूद भाजपा नेता।

जिले के घड़साना में चल रहे किसानों के महापड़ाव के तीन दिन बाद श्रीबिजयनगर में भी भाजपा के नेतृत्व में किसानों ने आंदोलन शुरू कर दिया है। यहां भाजपा नेताओं ने इंदिरा गांधी नहर परियोजना संघर्ष समिति के बैनर तले बुधवार को एसडीएम ऑफिस के पास आरसीपी कॉलोनी में सभा की। इन लोगों का कहना था कि चार में से दो समूह में नहरें नहीं चलाई गईं तो किसानों को नुकसान होगा।

उन्हें समय पर पानी नहीं मिल पाएगा और पर्याप्त पानी नहीं मिला तो सरसों, गेहूं जैसी फसलों की बुवाई पर इसका असर पड़ेगा। किसानों ने कहा कि पानी उनका अधिकार है और वे इसे लेकर रहेंगे। यहां किसानों का नेतृत्व भाजपा विधायक बलवीर लूथरा कर रहे हैं। उनके साथ बुधवार को सभा के दौरान मंच पर अनूपगढ़ विधायक संतोष बावरी, पूर्व विधायक शिमला बावरी, सूरतगढ़ सूरतगढ़ विधायक रामप्रताप कासनिया, पूर्व विधायक राजेंद्र भादू सहित कई प्रमुख लोग मौजूद थे।

सरकारें बदलीं लेकिन नहीं बदला संघर्ष

वक्ताओं ने कहा कि समय-समय पर सरकारें बदलती गईं, लेकिन किसान की समस्या यथावत बनी रही है। उसे हमेशा पानी के लिए संघर्ष करना पड़ा। उनका कहना था कि वे पानी लेकर रहेंगे। चार में से दो समूह नहरें चलेंगी तो किसान को पर्याप्त पानी मिल पाएगा। इसी से वह अपनी फसलों की सुरक्षा कर सकेगा। इससे पहले सुबह घड़साना, रावला, खाजूवाला सहित आसपास के बड़े इलाके से किसान मौके पर एकत्र हो गए। इन लोगों ने एसडीएम ऑफिस से कुछ दूरी पर सभा की है।

घड़साना में आंदोलन जारी

इस बीच घड़साना में भी माकपा के नेतृत्व में चार में से दो समूह नहरी पानी मांग के संबंध में किसानों का आंदोलन जारी है। वहां किसान महापड़ाव डाले हुए हैं। वहां किसानों ने बुधवार दोपहर तक उनकी मांगों पर कार्रवाई नहीं होने अथवा सरकार के सकारात्मक रवैया नहीं दिखाने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई है।

खबरें और भी हैं...