पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रदूषित पानी पर दिल्ली में अहम बैठक:सतलुज में डाले जा रहे केमिकलयुक्त पानी पर केंद्र ने फिर बनाई कमेटी, 7 दिन में देगी रिपोर्ट

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कमेटी पंजाब से सैंपल लेगी
  • स्थायी समाधान देगी

पंजाब से राजस्थान की नहराें में आ रहे केमिकल युक्त दूषित पानी काे राेकने के लिए स्थाई समाधान की मांग को लेकर बीकानेर संभाग के भाजपा विधायकाें की गुरुवार काे दिल्ली में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के साथ बैठक हुई। बैठक में पंजाब में वर्तमान में कहां-कहां गंदा पानी सतलुज में डाला जा रहा है। इसकी विस्तृत रिपाेर्ट के लिए राजस्थान व पंजाब के जल संसाधन विभाग के अधिकारियाें की कमेटी गठित की गई।

यह कमेटी सात दिन में इस संबंध में विस्तृत रिपाेर्ट तैयार कर केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत काे काे रिपाेर्ट साैंपेंगे। केंद्रीय जलशक्ति मंत्री ने बताया कि केंद्रीय प्रदूषण बाेर्ड की टीम नियमित रूप से पंजाब में नदियाें के पानी के सैंपल लेगी तथा जांच रिपाेर्ट से अवगत करवाएगी। इससे पहले बैठक में भाजपा विधायकाें ने पंजाब से आ रहे गंदे पानी पर एतराज जताया तथा इसकी राेकथाम के लिए स्थाई समाधान की मांग रखी।

विधायकाें ने कहा कि एनजीटी ने सतलुज में केमिकल युक्त पानी डालने वाली फैक्ट्रियाें पर 50 कराेड़ का जुर्माना लगाया था इसके बावजूद फैक्ट्रियाें का संचालन फिर से किस आधार पर हाे रहा है। रसायन युक्त पानी आने से प्रदेश के 10 जिले प्रभावित हैं।

बैठक में केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी, पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया, सांसद निहालचंद, प्रदेश उपाध्यक्ष माधोराम चौधरी, अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष कैलाश मेघवाल, किसान मोर्चा प्रदेशाध्यक्ष हरीराम रिणवां, प्रदेश मंत्री विजेंद्र पूनियां, श्रीगंगानगर के भाजपा जिलाध्यक्ष आत्माराम तरड़, हनुमानगढ़ जिलाध्यक्ष बलवीर बिश्नोई , बीकानेर संभाग से विधायक बिहारी लाल बिश्नोई, सुमित गोदारा, बलवीर लूथरा, संतोष बावरी, गुरदीप सिंह शाहपीनी उपस्थित थे।
बीबीएमबी में प्रदेश का प्रतिनिधि शामिल करने की मांग, बोले- पंजाब मनमर्जी से कम पानी दे रहा

बैठक में विधायकाें व भाजपा पदाधिकारियाें से बीबीएमबी में प्रदेश का प्रतिनिधि शामिल करने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि राजस्थान का पानी का 50 प्रतिशत हिस्सा है। एेसे में पंजाब के अधिकारी मनमर्जी से ही प्रदेश की नहराें में कम पानी देते हैं। लंबे समय से मांग के बावजूद प्रदेश का काेई प्रतिनिधि शामिल नहीं किया जा रहा। केंद्रीय मंत्री से इसे गंभीरता से लेते हुए प्रदेश का प्रतिनिधि शामिल करवाने का भराेसा दिया।

जल शक्ति मंत्री से फिराेजपुर फीडर के पुनर्निर्माण की रखी मांग

प्रतिनिधिमंडल ने पंजाब में फिरोजपुर फीडर के पुनर्निर्माण की मांग भी केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से की। भाजपा जिलाध्यक्ष आत्माराम तरड़ ने केंद्रीय मंत्री काे बताया कि इस फीडर के पुनर्निर्माण से श्रीगंगानगर जिले की गंगनहर को पूरा सिंचाई पानी मिल सकेगा जिससे इस क्षेत्र के किसान, व्यापारियाें व आमजन काे राहत मिलेगी।

उन्हाेंने कहा कि भाखड़ा नहर में 496 आरडी से जो लिंक से पानी मिलता है, उसका बेड लेवल सही नहीं है। राजस्थान में उसका धरातल लेवल नीचा किया जाए। इससे किसानों को इस नहर में पूरा 1800 क्यूसेक पानी मिल सके।

खबरें और भी हैं...