पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कार्रवाई:नर्सिंग कर्मी को एपीओ करने का विरोध कलेक्टर ने पीएमओ से रिपोर्ट तलब की

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला अस्पताल के नर्सिंग कर्मी विनोद कुमार शर्मा को ड्यूटी में लापरवाही के आरोप में जयपुर एपीओ करने का राजस्थान राज्य नर्सेज एसोसिएशन (एकीकृत) ने विरोध किया है। एसोसिएशन ने सोमवार को जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर आरोप लगाया कि विनोद शर्मा को जानबूझ कर प्रताड़ित करने के उद्देश्य से एपीओ किया गया है।

इस पर जिला कलेक्टर महावीर प्रसाद वर्मा ने जिला अस्पताल के पीएमओ डॉ. केएस कामरा से रिपोर्ट तलब की है। नर्सेज एसोसिएशन के ज्ञापन के अनुसार पीएमओ डॉ. कामरा ने 4 अगस्त को नर्सिंग कर्मी विनोद शर्मा को निदेशालय के लिए एपीओ करने के निर्देश जारी किए। विनोद शर्मा दिव्यांग है।

आरोप है कि 11 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव मरीज को बीकानेर ले जाते समय प्राइवेट एंबुलेंस खराब होने और दूसरी एंबुलेंस में अकेले नर्सिंग कर्मी द्वारा मरीज को शिफ्ट करने में दिक्कत हुई। जिला अस्पताल की लापरवाही से एंबुलेंस में ही कोरोना रोगी की मृत्यु हाे गई थी। इसके लिए तत्कालीन कलेक्टर द्वारा बनाई जांच कमेटी के समक्ष विनोद शर्मा ने बयान दिए।

इससे अस्पताल प्रबंधन विनोद शर्मा के खिलाफ हो गया। ज्ञापन के अनुसार एंबुलेंस प्रकरण की जांच रिपोर्ट को दबा दिया गया है। विनोद शर्मा को प्रताड़ित करने के लिए झूठे आरोप लगाकर बगैर सुनवाई का मौका दिए ही एपीओ कर दिया गया है।

ज्ञापन सौंपने वाले प्रतिनिधिमंडल में नर्सेज एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष जैतकंवर गोयल, दिनेश टाक, शिविंद्रपाल सिंह, सुरेंद्र आदि शामिल है। दूसरी तरफ जिला अस्पताल के पीएमओ डॉ. कामरा के अनुसार नर्सिंग कर्मी विनाेद शर्मा द्वारा कोविड रोगी को बीकानेर ले जाने से इनकार किया। ड्यूटी के दाैरान लापरवाही बरती। इससे पूर्व भी कर्मी को कारण बताओ नोटिस दिया जा चुका है। इसी वजह से एपीओ किया गया है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें