पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जिला अस्पताल की घटना:इंसानियत को ‘कोरोना’; कोविड अस्पताल में रात को हाथ में झाड़ू व मुंह पर मास्क लगा आया चोर, 6 मोबाइल फाेन चुराकर ले गया

श्रीगंगानगर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कई दिनों से कोरोना रोगियाें के वार्ड में हो रही चोरियां, कइयों की दवाएं भी गायब

जिला अस्पताल परिसर में नए एमसीएच भवन में चल रहे काेविड डेडिकेटेड अस्पताल में यहां ड्यूटी स्टाफ के अलावा अन्य कोई व्यक्ति जाने से कतराता है। वहीं, इस भवन में बीते दो तीन दिन तक एक व्यक्ति मुंह पर मास्क और हाथ में झाड़ू लेकर अलसुबह घुसा। सफाई के बहाने से मोबाइल चोरी कर ले गया।

बीते एक सप्ताह में कोरोना अस्पताल में भर्ती मरीजों के छह मोबाइल फोन चोरी हो चुके हैं। यहां तक कि दवाएं भी चोरी हो चुकी हैं। कोविड पॉजिटिव जोन में सफाई व्यवस्था भी सही नहीं है। बीती रात कुछ मरीजों को पानी के लिए भी परेशानी हुई। 

पदमपुर निवासी एक रोगी के अनुसार कुछ दिन तक अल सुबह 3 से 5 बजे के बीच कोरोना रोगियों के पास एक व्यक्ति आता रहा, जिसके मुंह पर मास्क लगा होता था। उसके हाथ में झाड़ू होता था। ये व्यक्ति मरीजों के बेड के पास झाड़ू मारकर सफाई का बहाना करता रहा। सुबह सफाई होती नहीं थी।

राेज किसी न किसी मरीज का मोबाइल फोन गायब हो जाता। परसों रात को पदमपुर निवासी एक युवक का आई फोन चोरी हो गया। करीब 50 हजार रुपए मूल्य का आईफोन कोरोना संक्रमित युवक ने रात 11 बजे साेते समय बेड पर अपने सिरहाने रखा था। अगले दिन सुबह 7 बजे जब युवक की नींद खुली तो उसका आई फोन गायब था।

दूसरे मरीज के मोबाइल फोन से कॉल करने पर आई फोन स्विच ऑफ मिला। एक रोगी के अनुसार कोरोना वार्ड से 6 मोबाइल फोन चोरी हाे चुके हैं। एक दिन सुबह मुंह पर मास्क व हाथ में झाड़ू लगाए हुए व्यक्ति जब वार्ड में पहुंचा तो मरीजों ने पूछताछ की तब वह खिसक गया।

रोगियों के अनुसार सुबह स्टाफ ने निगरानी कर एक व्यक्ति को पकड़ा है, उससे कुछ मोबाइल फाेन भी मिले हैं। लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने किसी व्यक्ति के पकड़े जाने की घटना से इनकार किया है। रोगियों के अनुसार जब उन्होंने स्टाफ को कहा तो जवाब मिला कि वे मोबाइल फाेन ढंुढ़वाने का प्रयास करेंगे।

कोरोना वार्ड में खत्म हुआ, पौने घंटे की मशक्कत के बाद दिया गया 
सोमवार रात मरीजों को पानी के लिए जद्दोजहद करनी पड़ी। शहर निवासी एक मरीज ने बताया कि स्टाफ सीढ़ियाें पर लोहे की कुर्सियों की बेरिकेडिंग कर नीचे आ गया। तब पानी की प्यास लगी तो मरीजों ने पहले स्टाफ को कॉल की, किसी ने फोन अटैंड नहीं किया। फिर सीढ़ियों पर बनाई बेरिकेडिंग के समीप आकर आवाज दी तो रिस्पांस नहीं दिया गया। तब जोर से शोर मचाया तो बाहर से गार्ड आया। उसने नीचे स्टाफ को जाकर सूचना दी ताे उन्हें पौन घंटे बाद पानी की बाेतलें दी गईं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें