एक सप्ताह में दूसरी बार क्राइम मीटिंग:मुखर्जीनगर में लूट की सूचना पर दाैड़ी पुलिस, राहत- कोई नहीं मिला, मामला संदिग्ध

श्रीगंगानगरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के मुखर्जीनगर में साेमवार काे दिनदहाड़े एक घर में दो संदिग्ध युवकों द्वारा लूटपाट किए जाने की सूचना से इलाके में हड़कंप मच गया। सूचना मिलने के कुछ ही मिनट में बड़ी संख्या में पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी दलबल सहित माैके पर पहुंच गए। संबंधित मकान के लाेगाें से जानकारी जुटाई। वहीं, आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले गए।

पुलिस महकमा इसलिए भी तुरंंत हरकत में आया कि 10 दिन पहले ही पेट्रोल पंप मालिक संजय भाटिया की रात लगभग 9 बजे गोली मारकर कैश लूट लिए जाने की वारदात हुई थी, जिसमें उपचार के दाैरान भाटिया का निधन हाे गया था। मुख्य आराेपी अब भी पकड़ से बाहर है। जानकारी के अनुसार साेमवार सुबह करीब 11:30 बजे दिनदहाड़े लूट होने की सूचना मिलते ही डीएसपी (शहर) अरविंद बैरड, कोतवाली प्रभारी सीआई गजेंद्रसिंह जोधा और केंद्रीय बस अड्डा चौकी प्रभारी एएसआई केशव शर्मा घटनास्थल पर पहुंच गए। जिस घर से सूचना मिली वहां माैजूद सास-बहू से पूछताछ की तथा सामने लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक की गई, जिसमें सूचना झूठी पाई गई।

वार्ड 34 के पार्षद पति व पूर्व पार्षद डाॅ. भरतपाल मैय्यर का कहना है कि वार्ड निवासी ममता नागपाल के घर से लूट की सूचना मिली। इस पर तुरंत काेतवाल गजेंद्र जाेधा काे जानकारी दी गई। पुलिस भी कुछ ही देर में संबंधित घर पर जा पहुंची। पुलिस का कहना है कि लूट की वारदात नहीं हुई। यह घर का कोई अंदरूनी मामला लगता है, जिसके बारे में परिवार वाले अभी कुछ नहीं बता रहे।

डॉ. मैय्यर ने बताया कि उन्हें फोन पर सूचना दी गई थी कि मुखर्जी नगर में डॉ. खुराना के क्लीनिक के पास एक घर में दो संदिग्ध युवकों द्वारा लूटपाट की गई है। मगर वहां जाकर की गई जांच पड़ताल में ऐसा कुछ भी नहीं मिला।

कोतवाल गजेद्र जाेधा ने बताया कि सुबह करीब 11 बजे ममता नागपाल घर से कुछ दूर सब्जी खरीदने के लिए गई थी। वह करीब 19 मिनट में वापस घर आ गई। ममता की बहू मनीषा का कहना है कि इसी दौरान 30-35 वर्ष आयु के दो संदिग्ध युवक घर में घुस आए। उनको देखकर वह घबरा गई।

बेटे को लेकर वह तुरंत ही रसोई में चली गई और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। संदिग्ध युवकों ने एक कमरे में जाकर सामान बिखेर दिया। दूसरे कमरे में भी समान बिखेरने की कोशिश की। शोर मचाने पर दोनों युवक भाग गए।

पास के मकान के बाहर फर्नीचर का काम कर रहे मिस्त्रियाें ने भी काेई संदिग्ध नहीं देखा : पुलिस ने बताया कि इस घर के सामने डॉ. खुराना के क्लीनिक पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। इसकी फुटेज में सास के जाने और वापस आने के 19 मिनट में कोई भी संदिग्ध घर में जाते और आते दिखाई नहीं दिया। कैमरे में घर का दरवाजा साफ दिखाई दे रहा है। वहीं, पास के एक मकान में फर्नीचर का काम चल रहा है। मिस्त्री बाहर बैठे काम कर रहे थे।

उन्हाेंने भी काेई संदिग्ध नहीं देखा। मनीषा भी काेई संताेषजनक जवाब नहीं दे पाई। पुलिस ने बताया कि मनीषा का पति सतीश नागपाल किसी काम से बीकानेर गया हुआ है। सतीश के वापस आने पर उससे भी पूछताछ की जाएगी।

खबरें और भी हैं...