पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डेंगू से पीड़ित रोगी:डेंगू का प्रकाेप बढ़ा, विभाग ने कार्ड टेस्ट की सरकारी तौर पर मान्यता न होना बताकर सर्वे ही शुरू नहीं किया

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तपोवन प्रन्यास में ही 39 रोगी भर्ती, एसडीपी और आरडीपी की मांग बढ़ी, फोगिंग की तरफ भी ज्यादा ध्यान नहीं

मच्छरों की तादाद बढ़ने से अब कोरोना की तरह डेंगू के प्रकोप ने भी रफ्तार पकड़ ली है। जिले में डेंगू रोगियों की संख्या बढ़ रही है। सरकारी रिकॉर्ड में भले ही इस साल में 5 लोगों को डेंगू हुआ है। लेकिन स्थिति भयावह है। अक्टूबर महीने के दो सप्ताह में श्रीगंगानगर शहर में डेंगू से 100 से ज्यादा रोगी पीड़ित हो चुके हैं। हालात ये हैं कि तपोवन अस्पताल में ही शनिवार को डेंगू के लक्षणों के 39 रोगी भर्ती थे। इसके अलावा वार्ड नंबर 43 पूजा कॉलोनी, गणपति नगर, आनंद विहार और पुरानी आबादी के वार्ड नंबर 15 व 16 में डेंगू से पीड़ित रोगी हैं। पूजा कॉलोनी में तो कई घरों में दो से तीन सदस्य भी डेंगू से पीड़ित हैं। जिले के अन्य हिस्सों में भी डेंगू रोगी मिल रहे हैं।

डॉक्टर्स के अनुसार मौसम में बदलाव आया है। इससे मच्छरों की संख्या बढ़ी है। समय पर मच्छरनाशक दवा की फोगिंग न होने की वजह से डेंगू का प्रकोप बढ़ रहा है। वार्ड नंबर 43 के पार्षद सुशील कुमार के अनुसार उनके वार्ड में पूजा काॅलोनी में डेंगू का प्रकोप तेजी से फैला है। रोगियों को बुखार के साथ डेंगू के लक्षणों से तकलीफ हो रही है। प्राइवेट अस्पतालों में जाकर टेस्ट करवाने पर डेंगू की पुष्टि हो रही है। कई रोगी डेंगू का इलाज करवाने पर सही हुए हैं।

अनदेखी...एंटीजन टेस्ट एनएस-1 और एंडी बॉडीज टेस्ट पॉजिटिव फिर भी स्वास्थ्य विभाग नहीं मान रहा, रोज आर रहे हैं 4 से 5 रोगी

पूर्व पार्षद व वरिष्ठ फिजिशियन डॉॅ. भरत मय्यर के अनुसार आेपीडी में रोजाना चार से पांच एेसे रोगी आ रहे हैं कि जिन्हें बुखार के साथ प्लेटलेट्स की कमी, सिर दर्द, कमजोरी आदि लक्षण हैं। डॉ. मय्यर के अनुसार रोगियों का एंटीजन टेस्ट एनएस-1 और एंडी बॉडीज टेस्ट आईजीजी व आईजीएम करवाने पर डेंगू की पुष्टि होती है। इन रोगियों को डेंगू के इलाज की दवा देने पर राहत मिल रही है। सरकारी तौर पर कार्ड टेस्ट मान्य नहीं होने के सवाल पर डॉ. मय्यर का जवाब था कि स्वास्थ्य विभाग एलाइजा टेस्ट को डेंगू काे कन्फर्म टेस्ट मानता है। जो हर लैब में संभव नहीं है। सरकारी अस्पतालों की हर लैब में ये टेस्ट हो नहीं रहा है। डॉ. मय्यर के अनुसार सरकारी रिपोर्टों को सच मान लिया जाए तो संपूर्ण भारत स्वस्थ है। अगर रोगी को डेंगू नहीं है तो डेंगू जैसे लक्षण और डेंगू का इलाज करवाने पर ही राहत क्यों मिल रही है।

डेंगू के लक्षण...तेज बुखार होना, सिर दर्द और कमजोरी आना

रोगी को मच्छर काटने के कुछ दिन बाद तेज बुखार होना, कमजोरी आना, प्लेटलेट्स की संख्या कम होना, सिर दर्द, मांसपेशियों, हडि्डयों व जोड़ों में दर्द, उल्टी आना आदि डेंगू के लक्षण हैं। डॉक्टरों के अनुसार अगर रोगी के खून में प्लेटलेट्स की संख्या 20 हजार या फिर इससे कम हो जाए तो ब्लीडिंग होने का खतरा जयादा रहता है। एक स्वस्थ व्यक्ति में डेढ़ से दो लाख प्लेटलेट्स होती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें