पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीसरी लहर के सामने की तैयारी:जिले  को मिले आठ सौ ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, स्टाफ का डाटा किया अपडेट, ऑक्सीजनप्लांट शीघ्र शुरू होने की संभावना

श्रीगंगानगर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर का सरकारी  अस्पता� - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर का सरकारी अस्पता�

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए अब जिले ही नहीं राज्य सरकार स्तर पर भी तैयारी शुरू कर दी गई है। पूर्व में जिले में ऑक्सीजन की मारामारी को देखते हुए अब राज्य सरकार ने जिले को आठ सौ नए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भिजवा दिए हैं। इन्हें ब्लॉकों में भिजवाया गया है। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों का डाटा तैयार किया जा रहा है ताकि पहले से बेहतर तरीके से कोरोना से लड़ा जा सके। वहीं नए ऑक्सीजन प्लांट भी अगस्त तक तैयार हो जाने की संभावना जताई जा रही है।

कोविड केयर सेंटर की तैयारी
कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर अधिकांश स्टाफ को ट्रेनिंग दी गई है। जिले में करीब दस ऑस्सीजन प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं। ये अगस्त तक पूरी तरह तैयार हो जाएंगे। डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल के अलावा कोविड केयर सेंटर व कंसल्टेंट सेंटर्स की भी तैयारी की जा रही है। स्टाफ का डेटा तैयार किया जा रहा है ताकि प्रशिक्षित व अप्रशिक्षित स्टाफ सहित चिकित्सकों, नर्सिंग व मैनेजमेंट स्टाफ की स्थिति अपडेट रहे। प्राइवेट हॉस्पिटलों से डेटा लेकर पूर्व में कोरोना में रहे हालात की समीक्षा की जा रही है। विभाग पहले के मुकाबले चार गुणा रोगियों को ध्यान में रखकर तैयारी कर रहा है।

सावधानी जरूरी
स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना की आशंका के मद्देनजर सावधान रहने का आह्वान किया है। सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और सैनेटाइजर का उपयोग का उपयोग करके कोरोना से बचा जा सकता है। डिप्टी सीएमएचओ डॉ. करण आर्य ने बताया कि तीसरी लहर को लेकर सावधान रहना जरूरी है। बच्चों को लेकर विशेष एहतियात बरतें, किसी भी तरह की लापरवाही न करें। विभाग भी बच्चों को लेकर खास तैयारियों में जुटा है। बच्चों के लिए सरकारी व गैर सरकारी चिकित्सक, हॉस्पिटल व बैड चिन्हित किए हैं।