पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जिले का पहला मामला:डॉक्टर ने 27 को लगवाया टीका, अगले दिन ही कोरोना पॉजिटिव, विभाग फिर लेगा सैंपल

श्रीगंगानगर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बेटे को कोटा छोड़ने के लिए 25 को दिया था कोरोना सैंपल
  • पोलियो अभियान के चलते आज से 3 दिन नहीं होगा वैक्सीनेशन

कोरोना वैक्सीन से साइड इफेक्ट न होने के दावाें बीच एक नया केस सामने आया है। जिस डाॅक्टर ने कोरोना से बचने के लिए टीकाकरण करवाया, अगले ही दिन उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। हालांकि सैंपलिंग वैक्सीनेशन से पहले हुई थी, जबकि कोरोना रिपोर्ट बाद में आई। इस वजह से स्वास्थ्य विभाग डॉक्टर के पहले से ही कोरोना संक्रमित होने की आशंका जता रहा है। अब इस डॉक्टर की रीसैंपलिंग करवाई जाएगी। शनिवार को इस केस की दिनभर चर्चा रही।

स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमित डॉक्टर से संपर्क कर लक्षणों की जानकारी ली। आरसीएचओ डॉ. एचएस बराड़ के अनुसार इस बारे में स्वास्थ्य निदेशालय को अवगत करवा कर विशेषज्ञों की राय ली जाएगी। वहीं, जिले में शनिवार तक पंजीकृत हो चुके 14448 डाॅक्टर्स व नर्सिंग स्टाफ में से 8290 का वैक्सीनेशन हो चुका है। रविवार को पल्स पोलियो अभियान है। लिहाजा अब तीन दिन तक घर घर जाकर बच्चों को पोलियो रोधी दवा की बूंदें पिलाई जाएगी।

इससे रविवार, सोमवार और मंगलवार यानी 31 जनवरी, 1 व 2 फरवरी को कोरोना वैक्सीनेशन बंद रहेगा। अब अगला टीकाकरण 3 फरवरी को होगा और 5 फरवरी को पहला चरण पूरा हो रहा है।

टीकाकरण का 5 को पहला चरण होगा पूरा, अभी 6158 को टीका लगना बाकी

सूत्रों के अनुसार, शहर के एक डेंटिस्ट ने अपने बेटे को कोटा में कोचिंग क्लासेज ज्वाइन करवाने के लिए छोड़ने जाना था। कोचिंग संस्थान ने बच्चे को क्लास ज्वाइन करने से पहले कोरोना जांच करवा नेगेटिव रिपोर्ट साथ लेकर आने को कहा था। डॉक्टर और उसके बेटे ने 25 जनवरी को जिला अस्पताल में सैंपल दिए।

27 जनवरी को इस डॉक्टर ने ब्लॉक एरिया स्थित एक निजी अस्पताल में शुरू हुए वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर वैक्सीन की पहली डोज लगवाई। अगले दिन 28 जनवरी को उसके बेटे की रिपोर्ट नेगेटिव और उसकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई। डॉक्टर के अनुसार, उन्हें तेज बुखार, सांस में तकलीफ जैसे कोई भी लक्षण नहीं है।

रिपोर्ट आने के बाद डॉक्टर ने अब खुद को घर में ही आइसोलेट कर लिया है और डॉक्टरों के परामर्श के अनुसार उपचार ले रहे हैं। डाॅक्टर के अनुसार वे 22 जनवरी को एक विवाह समारोह में शामिल हुए थे। वहीं से उन्हें कोरोना संक्रमित होने की आशंका है। इसके अलावा वे अपने क्लिनिक पर कोरोना से बचाव की पूरी एहतियात बरतते हैं। कोरोना संक्रमित डॉक्टर के अनुसार उन्होंने खुद को घर पर अलग कमरे में आइसोलेटेड रखा हुआ है। ताकि परिवार के अन्य सदस्य संक्रमित न हाें।

री-सैंपलिंग करवाई जाएगी : आरसीएचओ डॉ. बराड़ के अनुसार वैक्सीनेशन के बाद पॉजिटिव हुए डॉक्टर से बातचीत की तो पता चला कि उसके कोई लक्षण नहीं है। सैंपल वैक्सीनेशन से पहले का दिया हुआ है। ऐसे में अब रविवार या फिर सोमवार को री सैंपलिंग करवाई जाएगी।

जिला अस्पताल...पीएमओ सहित 48 नर्सिंग कर्मचारियों का हुआ वैक्सीनेशन
शनिवार को जिला अस्पताल में वैक्सीनेशन हुआ। इसमें पीएमओ डॉ. बलदेव सिंह चौहान सहित 48 नर्सिंग कर्मियों ने वैक्सीन की पहली डोज लगवाई। पीएमओ डॉ. चौहान के अनुसार वैक्सीन लगवाने के बाद वे खुद को पहले की अपेक्षा ज्यादा सेफ महसूस कर रहे हैं। जिले में अब तक 8290 डॉक्टर्स व नर्सिंग कर्मियों को वैक्सीन लगने के बाद 6158 का वैक्सीनेशन होना बाकी है। जिसे 5 फरवरी तक पूरा करना है।

एक्सपर्ट व्यू डॉ. एचएस बराड़, आरसीएचओ

टीकाकरण के 28 दिन में बनती है एंटीबॉडी, 80% बढ़ती है बचाव की क्षमता

आरसीएचओ डॉ. एचएस बराड़ के अनुसार गाइड लाइन के अनुसार कोरोना पाॅजिटिव या संदिग्ध मरीज और जुकाम-बुखार के लक्षण होने पर वैक्सीनेशन नहीं किया जाता। वैक्सीन की पहली डोज लगने पर शरीर में कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी बननी शुरू होती है। इसके बाद जब 28 वें दिन दूसरी डोज लगती है, तब एंटीबॉडी पूरी तरह से विकसित होती है। जब शरीर में वायरस न हो तब ही पूरी तरह से एंटीबाडी बनती है।

डॉ. बराड़ के अनुसार जब पूरी तरह से एंटीबॉडी बन जाती है तो वह वायरस के प्रति अधिकतम 80 प्रतिशत तक बचाव की क्षमता विकसित कर देती है। फिर भी संक्रमण हो जाए तो उसका ज्यादा असर नहीं पड़ता। कोरोना के लक्षण किसी व्यक्ति के संक्रमित होने के बाद 5 से 10 दिन में सामने आते हैं। डॉक्टर का सैंपल पॉजिटिव साबित हुआ है, वह वैक्सीनेशन से पहले का दिया हुआ है। इससे ज्यादा आशंका ये है कि उक्त डाॅक्टर वैक्सीनेशन से पहले ही पाॅजिटिव थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें