कोरोना काल:दवा आपूर्ति: एसीईओ की निगरानी में अफसरों की कमेटी करेगी जांच

श्रीगंगानगर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • संक्रमित राेगियाें के लिए जिले में निर्मित कोविड केयर सेंटर

कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर के बढ़ते प्रभाव काे देखते हुए प्रशासन अलर्ट हाे गया है। ग्रामीण क्षेत्र में बड़ी संख्या में नए केस सामने आने के बाद अब एहतियात के ताैर पर किसी भी आपात स्थिति से निबटने के लिए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं।

काेराेना के उपचार में उपयाेगी महत्वपूर्ण दवाओं की आपूर्ति के लिए सीईओ की अध्यक्षता में तीन डाॅक्टर शामिल कर समिति बनाई गई है। प्रशासन काे आशंका है कि आगामी सप्ताह में केस तेजी से बढ़ सकते हैं। संक्रमित राेगियाें के लिए जिले में निर्मित कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) के लिए जिला परिषद के एसीईओ मुकेश बारेठ (मोबाइल नंबर -9829341962) को नोडल अधिकारी बनाया है। संबंधित एसडीएम व बीसीएमओ सहायक नाेडल अधिकारी हाेंगे।

नोडल अधिकारी जिले में सीसीसी का समय-समय पर आकस्मिक निरीक्षण करेंगे। सेंटर पर मिलने वाली अनियमितताओं से कलेक्टर को अवगत करवाया जाएगा। इन अधिकारियाें की टीम समन्वय से सीसीसी पर संसाधन भी जुटाएंगे। ऑक्सीजन संबंधी समस्त व्यवस्थाएं बीसीएमओ करेंगे।

केंद्र में भर्ती कोविड-19 रोगियों की शिकायतों का अविलंब निस्तारण किया जाएगा। आवश्कतानुसार नए सीसीसी के लिए भी जगह चिह्नित कर अपेक्षित व्यवस्थाएं की जाएंगी। ऑक्सीजन सिलेंडराें की पूर्ति में प्रशासनिक एवं निकाय के संबंधित अधिकारी सहयाेग देंगे।

लाॅकडाउन व कर्फ्यू में टीकाकरण जारी रहेगा: राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं चिकित्सा विभाग राजस्थान के निर्देशानुसार कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान लाॅकडाउन व कर्फ्यू में भी जारी रहेगा। एडीएम प्रशासन भवानी सिंह पंवार ने इस संबंध में सीएमएचओ, पीएमओ, आरसीएचओ, समस्त एसडीएम को निर्देश दिए हैं कि लाॅकडाउन व कर्फ्यू प्रभावित क्षेत्र में राजकीय व निजी क्षेत्रों में टीकाकरण जारी रखें। आमजन को टीकाकरण के लिए प्रतिबंधित नहीं किया जाए।

रेमडेसिविर की आपूर्ति...एसीईओ की अध्यक्षता में समिति बनाई
जिले में कोरोना के एक्टिव राेगियाें में अप्रत्याशित वृद्धि को देखते हुए उपचार में उपयाेगी दवा रेमडेसिविर इंजेक्शन व टोसिलिजुमेव इंजेक्शन के उपयोग को लेकर एसीईओ जिला परिषद मुकेश बारेठ की अध्यक्षता में समिति गठित की है।

समिति में डाॅ. पवन सैनी, डाॅ. दीपक मोंगा तथा डाॅ. केएस कामरा शामिल किए गए हैं। चिकित्सकों का दल यह सुनिश्चित करेगा कि किस रोगी को दवा उपलब्ध करवाई जानी है। आवश्यकता व उपलब्धता के आधार पर दवा मुहैया करवाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...