पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जरूरी खबर:कंपाेजिशन डीलर काे जीएसटी की वार्षिक रिटर्न में खरीद की बिल वाइज देनी हाेगी एंट्री, 31 अगस्त अंतिम तारीख

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहली बार ना केवल पूरे वर्ष की बिक्री का टोटल, बल्कि रेगुलर डीलर से भी अधिक जानकारी देनी होगी

जीएसटी में रेगुलर डीलर को केवल बिक्री की डिटेल देनी होती है। इस वर्ष 2019-20 में कंपाेजिशन डीलर को पहली बार न केवल पूरे वर्ष की बिक्री का टोटल देना होगा, बल्कि रेगुलर डीलर से भी अधिक जानकारी देनी होगी। वह है खरीद की बिल वाइज डिटेल जो 2019- 20 से पूर्व कभी भी और किसी वर्ष में नहीं मांगी गई। जीएसटी में दो प्रकार के डीलर होते हैं एक रेगुलर और दूसरे कंपाेजिशन।

कंपाेजिशन डीलर को वर्ष में 5 रिटर्न्स भरनी होती है। चार तिमाही और एक वार्षिक। वहीं, रेगुलर डीलर काे साथ में 25 या 17 रिटर्न भरनी हाेती है। वित्तीय वर्ष 2019-2020 की वार्षिक रिटर्न फॉर्म को बदल दिया था। लेकिन फॉर्म तैयार न होने पर विभाग की अाेर से इसकी अंतिम तिथि को भी बढ़ाकर 31 अगस्त कर दिया गया है।

अभिषेक कालड़ा ने बताया कि फाॅर्म के पहले 3 भाग में डीलर को अपनी खरीद की डिटेल का विवरण देना होगा। प्रथम भाग में ऐसी खरीद का विवरण बिल वाइज देना होगा जो कंपाेजिशन डीलर ने रजिस्टर्ड डीलर से खरीदा होगा। दूसरे भाग में ऐसी खरीद की विवरण देना होगा जो कंपाेजिशन डीलर ने रजिस्टर्ड डीलर से खरीदा परंतु उस पर रिवर्स टैक्स के प्रावधान लागू है। तीसरे भाग में ऐसी खरीद की विवरण देना होगा जो कंपाेजिशन डीलर ने जीएसटी में रजिस्टर्ड न होने वाले डीलर से खरीदा था।

चौथे भाग में सर्विस का इंपाेर्ट की डिटेल देनी होगी। पांचवां भाग ऑटोमॅटिक है इसे भरने की जरुरत नहीं है। इसमें कंपाेजिशन डीलर ने जो चारों तिमाही रिटर्न जमा करवाई है, उसका जोड़ वेबसाइट द्वारा अपने आप आ जाएगा। छठे भाग में खरीद और बिक्री का टैक्स वाइज विवरण देना होगा।

सातवां भाग भी पांचवें भाग की तरह है उसे भी भरने की जरुरत नहीं है। कंपाेजिशन डीलर का टीडीएस या टीसीएस किसी के द्वारा काटा गया है तो वेबसाइट द्वारा अपने आप आ जाएगा। कुल मिलकर इस बार कंपाेजिशन डीलर को वार्षिक रिटर्न में बहुत ज्यादा डेटा देना होगा।

2018-19 में तिमाही रिटर्न फाइल करना होता था
कर सलाहकार एडवाेकेट अभिषेक कालड़ा ने बताया कि वित्त वर्ष 2018-19 में कंपोजिशन टैक्सपेयरों के लिए तिमाही आधार पर फॉर्म जीएसटीआर-4 भरना जरूरी था। हालांकि वित्त वर्ष 2019-20 में तिमाही आधार पर रिटर्न फाइल करने की जरूरत नहीं है।

केवल फॉर्म जीएसटी सीएमपी-08 में हर तिमाही एक स्टेटमेंट फाइल करना होता है। वित्त वर्ष 2018-19 के लिए वार्षिक रिटर्न के लिए फॉर्म जीएसटीआर-9 ए फाइल करना वैकल्पिक था। लेकिन वित्त वर्ष 2019-20 में वार्षिक रिटर्न नए फॉर्म जीएसटीआर-4 में भरना होगा।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें