पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एकता काॅलाेनी का मामला:वकील के घर हमला व अपहरण की वारदात करने वाले बिच्छू गैंग के चार आराेपी गिरफ्तार

श्रीगंगानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 4 जुलाई की शाम काे 15-20 युवकों ने किया था हमला, इससे पहले 3 जुलाई काे आराेपी गिराेह के युवक से हुई थी मारपीट

एकता काॅलाेनी में एडवाेकेट भारतभूषण के घर में घुसकर मारपीट, सामान ताेड़फाेड़ करने और उनके घर से दाे युवकाें का अपहरण कर ले जाने के आराेप में दर्ज मुकदमे में जवाहरनगर पुलिस ने बिच्छू गैंग के चार प्रमुख सदस्याें काे गुरुवार काे गिरफ्तार कर लिया है। घटना 4 जुलाई की रात करीब 8 बजे हुई थी।

इस संबंध में सुरजीतसिंह काॅलाेनी की गली नंबर 9 निवासी एडवाेकेट नरेश गाबा के बेटे असीम गाबा की ओर से मुकदमा दर्ज करवाया गया था। एएसपी सहीराम बिश्नाेई ने बताया कि वारदात के आराेपी 16 ए प्रेमनगर पायल टाकीज के पास हाल तुलसी कालोनी राम मंदिर के पास सेतिया फार्म निवासी 22 वर्षीय प्रिंस जयपाल पुत्र मोहनलाल मेघवाल, सुजावलपुर व हाल सेतिया फार्म में एक नंबर गली में मकान नंबर 26 ए में किराए पर रह रहे 20 वर्षीय सागर गिल पुत्र मलकीत सिंह, तुलसी कालाेनी सेतिया फार्म निवासी 20 वर्षीय अभिषेक उर्फ अभि पुत्र राजेन्द्र चराया व सुरजीतसिंह काॅलाेनी की गली नंबर दाे में मकान नंबर 150 निवासी 19 वर्षीय अमनदीप सिंह पुत्र भजन सिंह को वारदात के 48 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया है।

आराेपियाें के पास घटना के दाैरान माैजूद दो मोटरसाइकिल बरामद किए गए हैं। अन्य आराेपियाें की तलाश में सीओ सिटी अरविंद बैरड़ के निर्देशन में एसएचओ फूलचंद शर्मा टीम सहित छापेमारी कर रहे हैं। गिरफ्तार किए गए चाराें आराेपियाें काे बुधवार सुबह अदालत में पेशकर रिमांड पर लिया जाएगा।

3 की रात निश्चय पर हमला, 4 काे उसके परिवार के सदस्यों ने बिच्छू गैंग के साथ मिलकर लिया बदला, परस्पर मुकदमे दर्ज

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सेतिया काॅलाेनी निवासी निश्चय नारंग से एच ब्लाॅक निवासी राजेंद्र सेतिया व उसके बेटाें-अंकित व कुनाल, दाेस्ताें-असीम गाबा,परिक्षित, प्रशांत व तीन-चार अन्य ने 3 जुलाई की रात काे बसंती चाैक के निकट राॅड और डंडाें से मारपीट की।

उसे मरा समझकर अज्ञात स्थान पर पटककर भाग गए। 4 जुलाई की सुबह निश्चय काे गंभीर हालत में जिला अस्पताल 108 एंबुलेस लेकर पहुंची। इसके बाद 4 जुलाई की शाम काे ही निश्चय के परिजनाें ने बिच्छू गैंग के प्रिंस जयपाल सहित अन्य 10-15 लड़काें के साथ असीम गाबा, परिक्षित और प्रशांत का पीछाकर सीजीआर माॅल के पास पकड़ लिया।

लेकिन ये तीनाें एक ही माेटरसाइकिल पर थे और सीजीआर माॅल से भागकर एकता काॅलाेनी में असीम गाबा के पिता के साथ वकालत कर रहे एडवाेकेट भारत भूषण के घर जाकर छुप गए। बिच्छू गैंग के सदस्य पीछे ही थे और इनके पीछे ही घर में घुस गए और तीनाें से जमकर मारपीट की। फिर बाइकाें पर बैठाकर सेक्टर 17 में ले गए और वहां पर भी मारपीट कर छाेड़कर भाग गए थे।

एसएचओ फूलचंद शर्मा ने बताया कि बिच्छू गैंग बनाने वाला प्रिंस जयपाल गवर्नमेंट बॉयज काॅलेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अंबर जयपाल का सगा भाई बताया गया है। इसने हाल ही में सेतिया काॅलाेनी और सुरजीतसिंह काॅलाेनी निवासी दाेस्ताें के साथ मिलकर मारपीट और वसूली शुरू की थी। अभी यह स्पष्ट नहीं हाे पाया है कि वह इस वारदात में रुपए लेकर शामिल हुआ था अथवा उसका सीधे ताैर पर काेई लिंक है।

इस संबंध में गिरफ्तार आराेपियाें से पूछताछ की जा रही है। वारदात के आराेपियाें का पता लगाने में आसूचना अधिकारी भारतभूषण गाैड़ की विशेष भूमिका रही। उन्हाेंने अपने मुखबिराें से आराेपियाें के छुपने के संभावित ठिकानाें का पता लगाकर छापेमारी करवाई। इसमें सफलता मिली और आराेपी पकड़ लिए गए।

वारदात की लाेगों ने बना ली वीडियाे, पुलिस ने एक-एक काे पहचाना, फिर छापेमारी और चार गिरफ्तार

एकता काॅलाेनी में हुई वारदात के आसपास के लाेगाें ने फाेन में वीडियाे बना लिए। इसके बाद माैके पर पहुंची पुलिस काे ये वीडियाे उपलब्ध करवा दिए। पुलिस ने असीम गाबा की ओर से लगाए गए आराेपाें की वीडियाे में तस्दीक की और आराेपियाें काे पहचाना।

इसके बाद सीइओ सिटी अरविंद बैरड़, एसएचओ फूलचंद शर्मा के नेतृत्व में जांच अधिकारी एसआई शिंभुदयाल, आदेश कुमार, एएसआई हेतराम, हैड कांस्टेबल अनिल कुमार, महेश कुमार, कांस्टेबल रामकरण व आसूचना अधिकारी चालक कांस्टेबल भारतभूषण गाैड़ की विशेष टीम गठित की। अन्य फरार अाराेपियाें काे पकड़ने काे भी इसी टीम काे लगाया गया है। कई अन्य संदिग्ध देर रात समाचार लिखे जाने तक राउंडअप कर लिए गए थे।

जवाहरनगर पुलिस द्वारा पकड़े गए युवकाें ने लाेकल गैंग बनाकर लाेगाें काे धमकाने का धंधा शुरू कर रखा था। ये लाेग बिच्छू गैंग के नाम से गिराेह बनाकर रात काे वारदात के माैके तलाशते थे। इनके द्वारा की गई आपराधिक गतिविधियाें की जानकारी जुटा रहे हैं।
राजन दुष्यंत, एसपी, श्रीगंगानगर

खबरें और भी हैं...