पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sriganganagar
  • Four Months Ago, ASI And Broker Had Asked For Bribe, After Verification, If They Went To Give Money, Then Escaped From The Trap, Now ACB Got The FIR Done.

ट्रैप के पुराने मामले में FIR:चार माह पहले एएसआई और दलाल ने मांगी थी रिश्वत, सत्यापन के बाद रुपए देने गए तो ट्रैप से बचे, अब एसीबी ने करवाई एफआईआर​​​

श्रीगंगानगर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगागनर में एसीबी का एएसपी ऑफिस। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगागनर में एसीबी का एएसपी ऑफिस।

​​​चार माह पुराने एसीबी ट्रैप के एक मामले में रिश्वत राशि लेने से इनकार करने पर आरोपी एसीबी के शिकंजे से तो बच गया लेकिन अब उसके खिलाफ एफआईआर करवाई गई है। इस मामले में ट्रैप की कार्रवाई विफल होने पर मामला एसीबी के हैड ऑफिस भिजवाया गया। वहां आरोप प्रमाणित पाए जाने पर पर अब एफआईआर करवाई गई।

एएसआई और दलाल ने मांगी थी रिश्वत

चार माह पुराने इस मामले में 14 मई को गांव फेफाना के राजेंद्र कुमार ने एसीबी चौकी को शिकायत दी थी कि उसके बेटे प्रीतम के साथ मोहनदान चारण, संदीप व रोहिताश ने मारपीट की और उसके हाथ पैर तोड़ दिए। इस मामले में फेफाना चौकी के एएसआई राजूराम के पास जांच थी।

आरोपियों की गिरफ्तारी और कार्रवाई करने की एवज में राजूराम के दलाल संजय पुत्र प्रेमाराम मेघवाल ने पंद्रह हजार रुपए की रिश्वत मांगी। एसीबी ने सत्यापन करवाया तो दलाल संजय के माध्यम से दस हजार रुएए रिश्वत मांगने की पुष्टि हुई।

इस पर ट्रैप की कार्रवाई करवाई गई लेकिन आरोपियों को संदेह होने पर न तो राजूराम और न ही दलाल संजय ने रिश्वत के रुपए लिए। ​​​​​इस मामले में ट्रैप की कार्रवाई विफल होने के बाद एसीबी ने मामला जयपुर हैड ऑफिस भिजवाया जहां आरोप प्रथम दृष्टया प्रमाणित पाए जाने पर दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई।

​​​​​​​ ​​​​​​​

खबरें और भी हैं...