पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हेरोइन तस्करी का मामला:पति-पत्नी गिरफ्तार, तारबंदी की वीडियो बना 10 हजार रुपए में बेची थी, उसी से तय हुई लोकेशन

श्रीगंगानगर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हेराेइन तस्करी की वारदात के लिए दीपक ने पत्नी पवनदीपकाैर के साथ बाइक पर बैठकर तारबंदी का वीडियाे बनाया था। - Dainik Bhaskar
हेराेइन तस्करी की वारदात के लिए दीपक ने पत्नी पवनदीपकाैर के साथ बाइक पर बैठकर तारबंदी का वीडियाे बनाया था।
  • पुलिस से बचने को अब वर्चुअल काॅलिंग से कर रहे हैं सौदेबाजी

हेराेइन की तस्करी मामले में पुलिस ने खखां निवासी दंपती काे गिरफ्तार किया है। हेराेइन तस्करी के लिए खखां निवासी दीपक रायसिख व उसकी पत्नी पवनदीपकाैर ने तारबंदी की वीडियाे बनाकर बेची थी। इस बीच अन्य तस्कराें से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि गैंग चला रहे अंतरराष्ट्रीय तस्कराें पुलिस व सेना से बचने के लिए वर्चुअल काॅलिंग का सहारा लेना शुरू कर दिया है।

यह जानकारी 7 फरवरी काे दुल्लापुर कैरी में हुई 6 किलाे हेराेइन तस्करी की वारदात की जांच में सामने आई। इस तकनीक काे अपनाने से भले ही तस्कर खुद काे सुरक्षित समझ रहे थे लेकिन सुरक्षा एजेंसियाें ने उनके इरादाें पर पानी फेर दिया। हालांकि वर्चुअल काॅल तकनीक साेशल मीडिया काॅल का एडवांस वर्जन हाेने के कारण सुरक्षा एजेंसियाें काे थाेड़ा ज्यादा मेहनत करनी पड़ी।

तस्करी की वारदात में पहचाने गए पंजाब के पांचाें आराेपी गायब हैं लेकिन इनके नाम पते सामने आ जाने से गिरफ्तारी जल्द हाेने की उम्मीद है। हिंदुमलकाेट पुलिस इस गिराेह की जांच पड़ताल कर रही है। चाराें आराेपियाें दुल्लापुर कैरी निवासी सतनामसिंह, उसके भाई लखविंद्रसिंह, पक्की निवासी बलविंद्रसिंह तथा तीन सी बड़ी निवासी सतपालसिंह पुत्र जाेगेंद्रसिंह काे रिमांड पर लिया हुआ है। आराेपियाें की गुरुवार काे भी अज्ञात स्थान पर जेआईसी करवाई गई। सुरक्षा एजेंसियाें ने चाराें आराेपियाें से गहनता से पूछताछ की ताकि इनसे इस तस्करी या इससे पहले की वारदाताें के बारे में जानकारी हासिल की जा सके।

महिला मनरेगा मेट, उसके पति दीपक का गांव में ई-मित्र, बलविंद्र को बेची थी वीडियो

7 फरवरी काे हुई हेराेइन तस्करी की वारदात के लिए खखां निवासी दीपक पुत्र जसपालसिंह रायसिख ने पत्नी पवनदीपकाैर के साथ बाइक पर बैठकर तारबंदी का वीडियाे बनाया था। दाेनाें काे हिंदुमलकाेट पुलिस ने गुरुवार शाम काे गिरफ्तार कर लिया। इन्हें शुक्रवार सुबह अदालत में पेश किया जाएगा। हिंदुमलकाेट एसएचओ रामप्रताप वर्मा ने बताया कि दीपक की काेठा गांव में ई-मित्र है।

उसकी पत्नी पवनदीपकाैर मनरेगा में मेट है। तीन सी बड़ी निवासी आराेपी बलविंद्रसिंह का ई-मित्र के पास मेडिकल स्टाेर है। दाेनाें में दाेस्ती है। इसलिए बलविंद्र ने उसे तारबंदी का वीडियाे बनाकर लाने काे कहा। एक दिन तारबंदी के निकट मनरेगा मजदूर काम कर रहे थे। उस दिन पति-पत्नी बाइक पर तारबंदी के पास घूमे। दीपक बाइक चलाता रहा और पीछे बैठी उसकी पत्नी चाेरी छुपे वीडियाे बनाती रही। इस वीडियाे काे आराेपियाें ने बलविंद्रसिंह काे 10 हजार रुपए में बेचा था। बलविंद्र ने आगे पाकिस्तानी तस्कराें काे भेजकर लाेकेशन तय की थी।

अब तक एडवांस तकनीक, आईटी के जानकार ही उपयाेग कर सकते हैं
जिन चार तस्कराें काे अब तक पुलिस ने पकड़ा है, उनका शैक्षणिक स्तर इतना उच्च नहीं है कि वे इस तकनीक काे स्वयं इजाद कर इस्तेमाल कर सकें। ऐसे में आशंका है कि कराेड़ाें रुपए की अंतरराष्ट्रीय मादक पदार्थ तस्करी के नेटवर्क के मुख्य आराेपियाें ने लगातार तस्करी के लिए इस तकनीक काे अपनाया है। इसके लिए आर्टीफिशियल इंटेलीजेंसी का ज्ञान हाेना भी जरूरी है। यह व्यवस्थाएं तस्करी का नेटवर्क चलाने वाले ही अपनी गिराेह के लिए करते हैं।

ये है वर्चुअल काॅल: सिम नहीं केवल कोड हाेता है, यूरोपियन देशों के नंबरों का इस्तेमाल होता है
सुरक्षा एजेंसियाें के अनुसार इससे पहले तस्कर आपस में बात करने के लिए साेशल मीडिया काॅल करते थे। इसे डिटेक्ट करना आसान था। क्याेंकि इसमें जिन जिन लाेगाें के बीच बातचीत हाेती थी, उनके सिमकार्ड के नंबर डिटेक्ट कर लाेकेशन व टाइमिंग का पता तुरंत चल जाता था। अब तस्कर एडवांस तकनीक यानी वर्चुअल काॅल करने लगे हैं। इसमें तस्कर यूराेपियन देशाें का केवल नंबर इस्तेमाल करते हैं। सिमकार्ड नहीं हाेता।

विशेष तकनीक से इससे साेशल मीडिया काॅल की तरह ही काॅल हाेती है। इसमें नंबर उतनी देर ही अस्तित्व में हाेता है जितनी देर बात हाेती है। इसके बाद नंबर का अस्तित्व खत्म हाे जाता है। क्याेंकि सिमकार्ड नहीं हाेता। तस्कर इसलिए इस तकनीक का इस्तेमाल करने लगे हैं क्याेंकि सिमकार्ड नहीं हाेने तथा विदेशी काेड नंबर हाेने से उनकाे पकड़े जाने या एजेंसियाें द्वारा पहचाने जाने का डर नहीं हाेता। लेकिन इस तकनीक का भी एजेंसियाें ने ताेड़ निकाल लिया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें