सरकारी अस्पताल को मिला ऑक्सीजन प्लांट:प्रति घंटे  होगा एक हजार लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन, पीएम केयर फंड  से बने ऑक्सीजन प्लांट का चिकित्सा मंत्री ने किया वर्चुअल लोकार्पण

श्रीगंगानगर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीगंगानगर में ऑक्सीजन प्लांट के लोकार्पण समारोह समारोह में मौजूद जिला कलेक्टर, विधायक और अन्य अधिकारी। - Dainik Bhaskar
श्रीगंगानगर में ऑक्सीजन प्लांट के लोकार्पण समारोह समारोह में मौजूद जिला कलेक्टर, विधायक और अन्य अधिकारी।

शहर के सरकारी अस्पताल को गुरुवार को नया ऑक्सीजन प्लांट मिला। यह ऑक्सीजन प्लांट पीएम केयर फंड से तैयार किया गया है। कोरोनाकाल में ऑक्सीजन की कमी और इसके लिए मची मारामारी को देखते हुए हॉस्पिटल में ऑक्सीजन प्लांट तैयार करवाए गए थे। इन प्लांट की क्षमता भी काफी अधिक रखी गई है।

दो सौ सिलेंडर प्रतिदिन की क्षमता

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने गुरुवार को सरकारी अस्पताल में बने इस ऑक्सीजन प्लांट का वर्चुअल लोकार्पण किया। प्लांट में 200 सिलेंडर प्रतिदिन व 1000 लीटर प्रति घंटे ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता है। लोकार्पण समारोह में श्रीगंगानगर के जिला कलेक्ट्रेट से भी अधिकारी जुड़े। जिला कलेक्टर ज़ाकिर हुसैन ने कहा कि ऑक्सीजन प्लांट बनने से ज़िले को बेहद फ़ायदा होगा। विधायक राजकुमार गौड़ ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका से जिला अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करना जरूरी था। कार्यक्रम में एडीएम प्रशासन भंवानी सिंह पंवार, सीएमएचओ डॉ. गिरधारीलाल मेहरड़ा, सरकारी अस्पताल के डिप्टी कंट्रोलर डॉ प्रेम बजाज, डॉ पवन सैनी सहित कई लोग मौजूद रहे।

कोरोना काल में अचानक बढ़ी थी मांग

कोरोना काल में सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडरों की मांग अचानक बढ़ी थी। इस दौरान प्रतिदिन दो सौ से ढाई सौ तक रोगियों को ऑक्सीजन की जरूरत होती थी वहीं अस्पताल में ऑक्सीजन का एक प्लांट होने के अलावा श्रीगंगानगर और हनुमानगढ़ जिलों को श्रीगंगानगर में स्थापित एक ही प्लांट से सिलेंडर भरकर भिजवाए जा रहे थे। ऐसे में ऑक्सीजन को लेकर मारामारी के हालात हो गए थे।

नगर परिषद कमिश्नर की देखरेख में प्राइवेट अस्पतालों को गिनती के सिलेंडर दिए गए थे वहीं ऑक्सीजन सिलेंडरों की कालाबाजारी के भी कई मामले सामने आने के बाद सरकारी स्तर पर ऑक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी की गई। इसे कोरोना की तीसरी लहर से संघर्ष की तैयारी के रूप में भी देखा जा रहा है।

खबरें और भी हैं...