अगले चौबीस घंटे रहेगी टेंप्रेचर में गिरावट:दिन और रात का तापमान लगभग बराबर, दोपहर तक ठिठुरते रहे  लोग

श्रीगंगानगरएक वर्ष पहले
श्रीगंगानगर में छाए बादल और सड़कों पर निकले लोग।

इलाके में बुधवार को करीब-बीस घंटे से ज्यादा समय तक रुक-रुक कर हुई वर्षा का असर मौसम पर गुरुवार को नजर आया। दोपहर तक तेज ठंडक का असर बना रहा। आसमान में सूरज नजर नहीं आया वहीं सड़कों के किनारे दोपहर बारह बजे तक अलाव जलते दिखे। मौसम विभाग के अनुसार अगले चौबीस घंटे में भी सर्दी के तेवर तीखे बने रहेंगे। हालांकि बादल छाए रहने से बुधवार शाम तक मिनिमम टेंप्रेचर 12 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा बना रहा लेकिन सड़काें पर निकले लोग ठिठुरते नजर आए।

दिन और रात के तापमान में महज ढाई डिग्री सेल्सियस का अंतर
आम तौर पर इलाके में दिन का तापमान रात के तापमान से दस से पंद्रह डिग्री सेल्सियस तक ज्यादा रहता है लेकिन बुधवार शाम दर्ज किए गए तापमान की तुलना करें ताे यह दिन और रात में लगभग बराबर रहा है। बुधवार शाम मिनिममऔर मैक्सिमम टैंप्रेचर में अंतर महज 2.3 डिग्री सेल्सियस का ही रहा। बुधवार शाम मैक्सिमम टेंप्रेचर 14.6 डिग्री सेल्सियस था वहीं मिनिमम टेंप्रेचर 12.3 डिग्री सेल्सियस था। तापमान में इस बेहद कम अंतर का ही गुरुवार को मौसम पर दिखा।

अलाव तापकर दूर भगााई सर्दी
जिले में तेज सर्दी के चलते गुरुवार दोपहर तक सड़काें के किनारे अलाव जलते रहे। इस दौरान कोहरे जैसा एहसास भी रहा। वहीं एक दिन पहले हुई बरसात का असर भी महसूस हो रहा था। भीगी सड़कें और इसके किनारे जमा पानी लगातार सर्दी बढ़ा रहा था। वेदर एक्सपर्ट्स के अनुसार अभी कुछ समय तक ऐसे ही हालात बने रहने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...