जिले में आएगा 3315 करोड़ का इन्वेस्टमेंट:सौ से ज्यादा इंडस्ट्रियल यूनिट्स  लगेंगी,  राजस्थान, पंजाब, गुजरात और छत्तीसगढ़ के इन्वेस्टर्स  करेंगे इंडस्ट्रीज स्थापित

श्रीगंगानगर16 दिन पहले
श्रीगंगानगर में इन्वेस्टर्स सम्मिटका उद् घाटन करते अतिथि।

जिले में अगले कुछ दिनों में 3315 करोड़ का इन्वेस्टमेंट आएगा। राजस्थान ही नहीं पड़ौसी राज्य पंजाब, गुजरात और छत्तीसगढ़ के इन्वेस्टर्स ने जिले में इंडस्ट्रियल यूनिट्स लगाने की सहमति दी है। इसके लिए एमओयू हो गए हैं तथा कई यूनिट्स के करोड़ों रुपए के लेटर ऑफ इंडेंट भी तैयार हो गए हैं। शुक्रवार को शहर में हुई इन्वेस्टर्स सम्मिट 'इन्वेस्ट श्रीगंगानगर' कुछ इसी तरह की बात सामने आई। कार्यक्रम सूरतगढ़ रोड के एक रिसॉर्ट में हुआ। मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री गोविंदराम मेघवाल थे।

एग्रो बेस्ड इलाका इन्वेस्टर्स की पसंद

बॉर्डर एरिया होने के बावजूद श्रीगंगानगर एग्रो बेस्ड होने के कारण इन्वेस्टर्स की पसंद बना हुआ है। इन्वेस्टर्स ने यहां एथॉनोल फ्यूल एवं बायोगैस, कैटल फीड एंड बायोमैन्यौर, ग्रेन ग्रेडिंग, हेल्थ सैक्टर, एग्रो प्रोसेसिंग प्लांट, एग्रो इन्फ्रास्ट्रक्चर सर्विस क्ल्स्टर सहित कई तरह की कंपनियों ने जिले में इन्वेस्ट करने की तैयारी की है। इसके अलावा कई अन्य कंपनियां भी जिले में भाग्य आजमाएंगी।

1395 करोड़ के पांच प्रोजेक्ट

जिले में एक ही इंडस्ट्रियल इंस्टिट्यूट ने 1395 करोड़ के पांच प्रोजेक्ट लगाने की सहमति दी है। इन प्रोजेक्टस में गोडाउन, ग्रेन ग्रेडिंग प्लांट, कैटल फीड प्लांट, किन्नू वैक्सिंग प्लांट, मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट, डेयरी फार्म, कोल्ड स्टोरेज, ऑयल मिल, फूड पाउडर और पेस्ट मैन्यूफैक्चरिंग में 55 करोड़ का एमओयू हुआ है। वहीं जनरल हॉस्पिटल, मेडिकल कॉलेज, वेटरनरी कॉलेज आयुर्वेदिक कॉलेज, होम्योपैथिक कॉलेज, योगा कॉलेज, स्पोर्ट्स कॉलज, एग्रिकल्चर कॉलेज और यूनिवर्सिटी के लिए, इलेक्ट्रिक, मोटर व्हीकल एंड बैटरी मैन्युफैक्चरिंग प्लांट, बायो वेस्ट रिसाइकलिंग एंड एथॉनोल फ्यूल एंड बायोगैस प्रोडक्शन प्लांट तथा फार्मास्युटिकल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के चार प्राजेक्ट के लिए 1340 करोड़ के लैटर ऑफ इंडेंट तैयार हुए हैं।

पड़ौसी राज्यों के इंडस्ट्रिलिस्ट भी लगाएंगे उद्योग
जिले में 143 करोड़ रुपए का इन्वेस्ट पंजाब के इंडस्ट्रियलिस्ट करेंगे। वहीं गुजरात सो सौ करोड़ और छत्तीसगढ़ से 350 करोड़ का इन्वेस्टमेंट जिले को मिलेगा। छत्तीसगढ़ के इंडस्ट्रियलिस्ट ने यहां एथॉनोल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने के लिए 350 करोड़ रुपए का लैटर ऑफ इंडेंट तैयार करवाया है।

प्रभारी मंत्री बोले इन्वेस्टर्स को नहीं आने देंगे परेशानी
कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री गोविंदराम मेघवाल ने कहा कि इन्वेस्टर्स यदि इस इलाके में आते हैं तो उन्हें कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने रिसायतकाल में बीकानेर रियासत के बड़े इंडस्ट्रियलिस्ट के नॉर्थ ईस्ट में उद्योग स्थापित करने का हवाला देते हुए कहा कि उस समय हमारे यहां टैक्स ज्यादा होने से लोगों ने नॉर्थ ईस्ट का रुख किया। उद्यमी आएंगे तो उन्हें कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी।

गुजरात के लोग लगाएं इंडस्ट्रीज
एमएलए राजकुमार गौड़ ने कहा कि गुजरात के लोग इलाके में आएंं और इंडस्ट्रीज लगाएं। उन्होंने कहा कि बाहर के उद्योगपतियों का यहां स्वागत है। वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री और एमपी निहालचंद ने कहा कि केंद्र सरकार के स्तर पर भी इंडस्ट्रीज लगाने के लिए प्रोत्साहन दिया जाएगा। नगर परिषद सभापति करुणा चांडक ने आयोजन पर प्रसन्नता जताई। जिला कलेक्टर जाकिर हुसैन ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में एसपी आनंद शर्मा, एडीएम प्रशासन कमला अलारिया, सीईओ जिला परिषद मोहम्मद जुनैद सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...