शराबी पिता ने नाबालिग बेटियों काे घर से निकाला:मां की 8 साल पहले माैत, शराबी पिता ने दूसरी शादी की, नाबालिग बेटियों काे घर से निकाला

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लावारिस मिली किशोरियों से जानकारी लेते चाइल्ड लाइन के सदस्य। - Dainik Bhaskar
लावारिस मिली किशोरियों से जानकारी लेते चाइल्ड लाइन के सदस्य।
  • रात काे लावारिस भटकते मिलीं, मोहनपुरा स्थित विवेक आश्रम में आश्रय दिलाया

मां के निधन के बाद शराबी पिता ने दूसरी शादी कर ली। पिता और साैतेली मां की प्रताड़ना से तंग आकर बड़ी बेटी ने प्रेम विवाह कर लिया ताे नाराज पिता ने दाे अन्य नाबालिग बेटियाें काे घर से निकाल दिया। रात काे सुनसान सड़क पर सहमी सी घूम रही इन किशाेरियाें की सूचना एक राहगीर ने चाइल्ड लाइन काे दी।

इसके बाद इन दाेनाें किशाेरियाें काे माेहनपुरा राेड स्थित विवेक आश्रम में आश्रय दिलवाया गया। घटना 27 सितंबर रात की है। चाइल्ड लाइन के जिला परियाेजना निदेशक महेश पेड़ीवाल ने बताया कि साेमवार रात काे 10 बजे टाेल फ्री नंबर 1098 पर सूचना आई थी। इस पर वे टीम सदस्य त्रिलाेक वर्मा और मुन्नीदेवी के साथ हरदीपसिंह काॅलाेनी में पहुंचे।

वहां पर दाे लड़कियां लावारिस हालत में सहमी हुई मिलीं। इनमें से एक 17 साल ताे दूसरी 15 साल की थी। इन्हाेंने बताया कि उनकाे पिता और साैतेली मां ने घर से निकाल दिया है। इस पर दाेनाें किशाेरियाें काे चाइल्ड लाइन कार्यालय लाया गया। यहां उनकाे भाेजन करवाया गया और उनकाे विश्वास दिलाकर जानकारी ली गई।

इसके बाद इनकाे चाइल्ड लाइन कार्यालय में महिला कर्मचारी मुन्नीदेवी की निगरानी में ठहराया गया। सुबह दाेनाें किशाेरियाें काे बाल कल्याण समिति सदस्य आनंद मारवाल और वंदना गाैड़ के सामने पेश किया गया। बाल कल्याण समिति ने बच्चियाें काे विवेक आश्रम में भेजने के आदेश दिए।

काेतवाली पुलिस काे आराेपी पिता और मां पर मुकदमा दर्ज करने के बाल कल्याण समिति ने दिए निर्देश
बाल कल्याण समिति सदस्याें ने बच्चियों के पिता को बुलाया तो उसने समिति के कार्यालय में ही आने से मना कर दिया। इस पर उससे पूछताछ नहीं की जा सकी। बच्चियाें काे साथ ले जाने के लिए कहा तब भी उसने काेई गंभीरता नहीं दिखाई। इस पर पिता और साैतेली मां के खिलाफ किशाेरियाें से ज्यादती करने, मारपीट, प्रताड़ना और घर से निकाल देने के आराेप में कानूनी कार्रवाई करने काे काेतवाली पुलिस काे निर्देश जारी किए हैं। हालांकि इस संबंध में पुलिस ने साेमवार शाम तक मुकदमा दर्ज नहीं किया था। किशाेरियाें काे विवेक आश्रम में ठहराया गया है। उनके बालिग हाेने तक दाेनाें बहनें आश्रम में ही रहकर शिक्षा ग्रहण करेंगी। इसके बाद उनकी इच्छा के अनुसार निर्णय लिया जाएगा।

बड़ी बहन से मिलकर लाैटीं ताे पिता ने पीटा और घर से निकाल दिया, ताला लगाकर साैतेली मां के साथ चले गए
पीड़ित किशाेरी : पीड़ित किशाेरियाें ने बाल कल्याण समिति सदस्याें काे बयानाें में बताया कि उनकी मां का करीब 8 साल पहले निधन हाे चुका है। पिता ने एक साल बाद ही दूसरी शादी कर ली थी। पिता शराब के नशे के आदी हैं। सब्जी की रेहड़ी लगाते हैं। पिता शराब के नशे में अकसर मारपीट करते हैं और गालियां देते हैं।

पिता से परेशान हाेकर बड़ी बहन ने पुरानी आबादी निवासी युवक से शादी कर ली। इसके बाद पिता का गुस्सा काफी बढ़ गया। साेमवार काे दिन में जब वे दाेनाें बहनें अपनी बड़ी बहन से मिलकर शाम काे वापस लाैटीं ताे पिता ने मारापीटा और घर से बाहर निकाल दिया। दाेनाें बहनें बड़ी बहन के घर समय जाते रास्ता भटक गईं। वापस लाैटीं ताे पिता मकान काे ताला लगाकर साैतेली मां के साथ गायब थे।

खबरें और भी हैं...