नेशनल हाई खाई-वे:अफसरों व जनप्रतिनिधियों को नहीं दिखती ये तस्वीरें, इसलिए आज से भास्कर दिखाएगा आमजन की पीड़ा

श्रीगंगानगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महियांवाली के पास सड़क के एक किनारे पर बड़ा गड्‌ढा हो चुका है। लोगों ने अब यहां अपनी ओर से ईंट रखी हैं, ताकि कोई भी यहां से नहीं गुजरे। फोटो राजेंद्रपाल निक्का - Dainik Bhaskar
महियांवाली के पास सड़क के एक किनारे पर बड़ा गड्‌ढा हो चुका है। लोगों ने अब यहां अपनी ओर से ईंट रखी हैं, ताकि कोई भी यहां से नहीं गुजरे। फोटो राजेंद्रपाल निक्का
  • सड़क के नीचे 5 से 6 फीट का गड्‌ढा

तस्वीर राष्ट्रीय राजमार्ग 62 की है। श्रीगंगानगर-सूरतगढ़ मार्ग पर गांव महियांवाली के नजदीक गंगनहर के पुल पर सड़क पूरी तरह से बैठ गई है। यहां तक कि वहां साइड में बड़ा गड्ढा हाे चुका है। स्थानीय लाेगाें का कहना है कि पहले गड्ढा छाेटा था, इस संबंध में अधिकारियाें काे अवगत भी करा दिया गया, लेकिन किसी ने संभाल नहीं की। लिहाजा अब यह गड्ढा 5 से 6 फीट गहरा व करीब 8 से 10 फीट लंबा हाे चुका है। गड्‌ढा पुल के पास होने के कारण जमीन से ऊंचाई पर है और ढलान पर आते समय वाहन चालकों को नजर नहीं आता। ऐसे में रोजाना वहां हादसे होते हैं। मंगलवार को भी दो बाइक सवार इसमें गिरकर चोटिल हो गए। गनीमत यह रही कि दोनों ने हेलमेट पहने थे, इसलिए उन्हें ज्यादा चोटें नहीं आई। वरना, बड़ा हादसा हो सकता था। इस संबंध में पीडब्ल्यूडी एक्सईएन से बात की तो उनका कहना था कि यह सड़क नेशनल हाईवे के अधीन आती है। उन्हें बताकर सड़क की मरम्मत करवाई जाएगी।

भास्कर कॉल

बरसात के बाद शहर के साथ-साथ चारों प्रवेश मार्गों की सड़कों का भी काफी बुरा हाल है। लेकिन इन सड़कों की स्थिति न हमारे अफसरों को दिखती है और न ही जनप्रतिनिधियों को। इन गड्‌ढों में हमारे वाहन तो क्षतिग्रस्त हाेते ही हैं, लोग भी दुर्घटनाग्रस्त होते हैं। ऐसे में भास्कर आज से रोज इन सड़कों को लेकर जिम्मेदारों से सवाल करेगा। मकसद यही है कि टूटी सड़कों से लोगों को राहत मिले।

खबरें और भी हैं...